राज्य समाचार

श्रद्धा भक्ति के साथ शहर के मंदिरों में मनाया गया भगवान पार्श्वनाथ का निर्वाण महा महोत्सव

04/08/2022

-जयकारो से गुंजायमान हुए जिनालय
-निर्वाण लाडू की थाल सजाकर मंत्र उच्चार के साथ अर्पित किए निर्वाण लड्डू
-नंदीश्वर जिनालय मैं महातीर्थ श्री सम्मेद शिखरजी की आकर्षक रचना
भोपाल (ईएमएस) । श्री पार्श्वनाथ देव सेव आपकी करूं सदा,,,, दीजिए निवास मोक्ष भूलिए नहीं कदा,,,,,पंक्तियों के उच्चारण के साथ राजधानी के जैन मंदिरों में भगवान पार्श्वनाथ की आराधना की गई श्रद्धा भक्ति और आस्था के साथ राजधानी के सभी जैन मंदिरों में अभूतपूर्व उत्साह के वातावरण में निर्वाण लाडू अर्पित किए गए राजधानी के चौक जिनालय में मुनि श्री विमल सागर महाराज के सा संघ सानिध्य में जिनालय मे विराजमान सभी प्रतिमाओं का अभिषेक कर मन्त्रों चरित शांति धारा की गई मुख्य अनुष्ठान मनोज प्रीति सपना बांगा एवं पवन सुपर परिवार द्वारा किया गया नंदीश्वर जिनालय में श्री सम्मेद शिखरजी की कृति की रचना की गई मुनि श्री विहसंत सागर महाराज के सा संघ सानिध्य में अष्ट द्रव्य से महातीर्थ श्री सम्मेद शिखरजी पर विराजमान 24 तीर्थंकर प्रभु की टोंक की पूजा अर्चना कर अनुष्ठान हुए समाज के प्रवक्ता अंशुल जैन ने बताया आज का दिवस मोक्ष सप्तमी के रूप में भी मनाया जाता है ज्यादातर श्रद्धालुओं द्वारा निर्जल उपवास किए गए नंदीश्वर जिनालय मैं जैन धर्मावलंबियों की श्रद्धा भक्ति और आस्था के प्रमुख महातीर्थ श्री सम्मेद शिखरजी की रचना की वंदना भक्ति भाव से कर प्रभु पार्श्वनाथ की आराधना की गई श्री पार्श्वनाथ देव सेव आप की करूं सदा,,,,,दीजिए निवास मोक्ष भूलिए नहीं कदा,,,,,की पंक्तियों का उच्चारण कर शिखर जी की परिक्रमा की गई आशीष वचन में मुनि श्री विह संत सागर महाराज ने कहा भगवान पार्श्व नाथ ने दस भवों तक उपसर्ग सहन किया उसके बाद निर्वाण पद को प्राप्त हुए आज का दिवस यह प्रेरणा देने वाला है की सदा जीवन में पल पल क्षमा को धारण करो आज निर्वाण लड्डू समर्पित करने के बाद जिस व्यक्ति से बातचीत बंद है उसका मुंह मीठा कराओ जैन सिद्धांत यही सिखाता है संसार में सभी जीवो के प्रति करुणा भाव रखते हुए अंतरंग में क्षमा भाव धारण करो जिनालय में मुख्य निर्माण लाडू अर्पित करने का सौभाग्य प्रमोद उषा नील चौधरी एडवोकेट परिवार को प्राप्त हुआ इस अवसर पर पंकज इंजीनियर डॉक्टर सर्वज्ञ जैन सहित अनेक धर्मावलंबी मौजूद थे प्रवक्ता अंशुल जैन ने बतायाश्री चन्द्रप्रभु जैन मंदिर मंगलवारा में श्री चंद्रप्रभु भक्त मंडल तत्वाधान में 23वें तीर्थंकरश्री पार्श्वनाथ भगवान का मोक्ष कल्याणक महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सर्वप्रथम भगवान श्री पार्श्वनाथ जी की विशाल पदमासन प्रतिमा के प्रथम अभिषेक करने का सौभाग्य प्रमोद हिमांशु आदित्य मनिया पंकज प्रधान परिवार को प्राप्त हुआ इसी प्रकार अयोध्या नगर जैन मंदिर कस्तूरबा नगर जैन मंदिर मैं भगवान पार्श्व नाथ का अभिषेक और पूजा अर्चना की गई मंदिर समिति के अध्यक्ष विकास गोधा सुनील जैनाविन सहित अनेक धर्मावलंबी मौजूद थे।
अंशुल जैन/ईएमएस/04अगस्त2022