क्षेत्रीय

कोरोना का खतरा अभी टला नहीं, स्वच्छता से बचाव सम्भव: जिलाधिकारी

15/10/2020

अलीगढ़ (ईएमएस)। जिलाधिकारी चन्द्र भूषण सिंह ने मुख्य विकास अधिकारी अनुनय झा एवं मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 बी.पी.एस कल्याणी एवं अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों ने सोशल डिस्टेन्सिंग के साथ ग्लोबल हैण्ड वॉश डे के अवसर पर हाथ धुलकर स्वच्छता का संदेश देते हुए ”हाथ धोना-रोके कोरोना“ के संकल्प के साथ कलैक्ट्रेट में कार्यक्रम आयोजित किया गया। डीएम ने कहा कि कोरोना का खतरा अभी टला नहीं है। इसलिए हम सबको अभी पूरी सावधानी बरतनी है। उन्होंने कहा कि हाथ धुलने से सिर्फ कोरोना वायरस से ही नहीं बल्कि अन्य तमाम संक्रामक जनित बीमारियों से निजात मिलती है। इसलिए हम लोगों को इसे आदत में अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे हाथों में असख्ंय वायरस व हानिकारक जीवाणु छिपे होते हैं, जिन्हें हम देख नहीं सकते हैं, वे वायरस व कीटाणु हमारे शरीर में प्रवेश कर हमें बीमार कर देते हैं। इसलिए जागरूक होकर हमें नियमित हाथ धोने की आदत डालनी चाहिए जिससे हम तमाम बीमारियों से बच सकते हैं और अच्छा स्वास्थ्य भी प्राप्त कर सकते हैं।
उन्होंने कहा कि इस कोरोना वॉयरस संचारी संक्रमण काल में स्वच्छता के साथ-साथ हाथ धोकर ही भोजन या अन्य चीजें ग्रहण करना सबसे अहम विषय है। हाथ न धुलने से नाखूनों में व हाथों में व्याप्त गंदगी भोजन के माध्यम से शरीर में पहुंचती है जिससे विभिन्न प्रकार के गंभीर बीमारियों से लोग को ग्रसित कर लेती है। डीएम ने कार्यक्रम में उपस्थित कर्मचारियों व दफ्तर में अपने-अपने कामों को लेकर आए दूरदराज के ग्रामीणों के बीच हाथ धोकर इस महा स्वच्छता कार्यक्रम में लोगों को जागरूकता के साथ प्रेरित भी किया। जिलाधिकारी ने जनपद में साफ-सफाई व्यवस्था से जुडे विभागीय अधिकारियों सहित ग्रामीण स्तर पर कार्यरत स्वास्थ्य कर्मियों को साबुन से हाथ धुलने के प्रति लोगों को जागरूक करते रहने के भी निर्देश दिये।
इसी क्रम में विकास भवन में मुख्य विकास अधिकाकरी अनुनय झा के नेतृत्व में ग्लोबल हैण्ड वॉश डे का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 वायरस अभी भी सक्रिय है। इसलिए नियमित रूप से हाथ धोना अनिवार्य है। जनपद के सभी ब्लाक, ग्राम पंचायत, कार्यालय व अस्पताल, स्कूल, आंगनबाड़ी केन्द्र में विश्व हाथ धुलाई दिवस के अवसर पर हाथ धोने का कार्यक्रम आयोजित किया गया। एक साथ सभी लोगों के हाथ धोने से जनमानस प्रेरित होगा और सभी को हाथ धोने की प्रेरणा मिलेगी। सीडीओ ने कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने हेतु जनपदवासियों से अनिवार्य रूप से एवं सही ढंग से नाक एवं मुह को ढकते हुए मास्क का प्रयोग करने, कुछ समय अन्तराल पर साबुन से हाथ धुलने, आवश्यकतानुसार सेनेटाइजर का प्रयोग करने तथा आफिस एवं अन्य दैनिक कार्यो के दौरान कम से कम दो गज की दूरी (सोशल डिस्टेसिंग) बनाये रखने की अपील भी की।
मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 बी.पी.एस. कल्याणी के नेतृत्व में सीएमओ कार्यालय में ”विश्व हाथ धुलाई दिवस“ का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि साबुन से हाथ धोने के छ: चरण होते है। इसका पालन करने से कोविड-19 महामारी संक्रमण काल में भोजन के पहले, नाक, मुह एवं ऑख को छूने के बाद, खासने एंव छीकने के बाद, शौच के बाद सभी को हाथ धोने का महत्व समझना चाहिए।
आम जनमानस में नियमित रूप से समय-समय पर साबुन से हाथ धुलने के प्रति जागरूकता बढेगी फलस्वरूप कोविड-19 सहित अन्य संक्रामक बीमारियों से संक्रमण का खतरा काफी कम हो जाएगा।
धर्मेन्द्र राघव/15/10/2020