राज्य समाचार

राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल से बैंक, बीमा, डाकतार, टेलीफोन एवं केन्द्रीय कार्यालयों में काम-काज ठप्प

08/01/2019


- 9 जनवरी 2019 को पुनः राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल
भोपाल(ईएमएस)। इंटक, एटक, सीटू, एच.एम.एस., ए.आई.यू.टी.यू.सी., सेवा तथा केन्द्र, बैंक, बीमा, बीएसएनएल एवं अन्य संस्थानों की ट्रेड यूनियनों के आह्वान पर केन्द्र सरकार की जन एवं श्रम विरोधी नीतियों के खिलाफ देशभर के 20 करोड़ से ज्यादा मजदूर एवं कामगार हड़ताल पर रहे। हड़ताल के कारण बैंक, बीमा, डाकतार, केन्द्र, बी.एस.एन.एल., कोयला, परिवहन, तेल, पोर्ट, विमानन एवं अन्य संस्थानों के कार्यालयों में काम-काज ठप्प रहा। संख्या की दृष्टि से विश्व की यह सबसे बड़ी हड़ताल है। यह हड़ताल मुख्य रूप से उन मुद्दों पर केन्द्रित है, जिनसे देश की जनता, हर ट्रेड यूनियन एवं कामगार प्रभावित होता है।
हड़ताली संगठनों ने मुख्य रूप से 12 सूत्रीय मॉंगों को लेकर हड़ताल की है जो कि इस प्रकार हैं :- (1) आवश्यक वस्तुओं की मूल्य वृद्धि को नियंत्रित करने के लिए प्रभावी उपाय करें, सार्वजनिक वितरण प्रणाली को कमजोर न करें, कमोडिटी बाजार में सट्टेबाजी पर प्रतिबंध लगायें, (2) हमारे युवाओं के लिए अधिक रोजगार पैदा करें तथा सभी क्षेत्रों और उद्योगों में चरणबद्ध भर्तियों के माध्यम से बेरोजगारी को कम करने के लिए प्रभावी उपाय करें, (3) श्रम कानूनों, श्रम कानूनों के उल्लंघन के लिए नियोक्ताओं पर कठोर कार्रवाई का कठोरता के साथ पालन करें, (4) सभी कामगारों और कर्मचारियों के लिए सामाजिक सुरक्षा प्रदान करें, (5) न्यूनतम वेतन रू. 18,000/- से कम न हो, (6) सभी कामगारों और कर्मचारियों के लिए सुनिश्चित पेंशन दी जावे, एनपीएस समाप्त करें, पुरानी पेन्शन बहाल की जावे, (7) समान कार्य के लिए स्थाई मजदूरों की भाँति ठेका मजदूरों के लिए भी समान वेतन और लाभ दिये जावें, (8) केन्द्र और राज्य की सार्वजनिक क्षेत्र की इकाईओं/उपक्रमों के विनिवेश पर रोक लगाई जावे, (9) बोनस, भविष्य निधि के भुगतान और पात्रता पर से सभी ऊपरी सीमाओं को हटाया जावे, (10) 45 दिनों की अवधि के भीतर श्रम संगठनों का पंजीकरण सुनिचित किया जावे तथा आईएलओ कन्वेंशन नं.-87 और 98 का तत्काल अनुमोदन किया जावे, (11) श्रम कानूनों के लिए प्रस्तावित प्रतिकूल संशोधनों पर रोक लगाई जावे, (12) रक्षा, बीमा, रेल्वे तथा अन्य मुख्य क्षेत्रों में अंधाधुंध एफ.डी.आई. पर रोक लगाई जावे।
राजधानी भोपाल में बैंक, बीमा, केन्द्र, डाकतार, बी.एस.एन.एल., सेन्ट्रल ट्रेड यूनियनों एव अन्य संस्थानों के हजारों कामगार रंग-बिरंगे बैनर, पोस्टर्स, प्ले कार्डस एवं कलरफुल ड्रेस के साथ आज प्रातः 10ः30 बजे प्रेस कॉमप्लेक्स होशंगाबाद रोड भोपाल स्थित ओरियन्टल बैंक ऑफ कॉमर्स, रीजनल ऑफिस के सामने एकत्रित हुए। उन्होंने अपनी मॉंगों के समर्थन में जोरदार नारेबाजी कर प्रभावी प्रदर्शन किया। इसके पश्चात एक विशाल इंक्लाबी रैली प्रारम्भ हुई, जिसमें करीब 4000 से ज्यादा हड़ताली मजदूर, कामगार, कर्मचारी एवं अधिकारी शामिल हुए। सभा को विभिन्न ट्रेड यूनियनों के नेताओं साथी वी.के. शर्मा, यशवन्त पुरोहित, दीपक रत्न शर्मा, संजय कुदेशिया, एम.टी. सुशीलन, रूपसिंह चौहान, प्रमोद प्रधान, ओ.पी. कटियार, महेन्द्र शर्मा, अजय श्रीवास्तव ‘नीलू’, एल.बी. शाह, पी.के. तंवर, एम.एस. जयशंकर, एम.जी. शिन्दे, गुणशेखरन, मुकेश भदौरिया, संतोष बघेल, जी.सी. जोशी, जे.पी. दुबे, महेन्द्र भाई आदि ने सम्बोधित किया।
वक्ताओं ने बताया कि 9 जनवरी 2019 को देशभर के 20 करोड़ कामगार पुनः हड़ताल में भाग लेंगे एवं राजधानी भोपाल में हड़ताली कामगार प्रातः 11ः00 बजे नीलम पार्क (लिली टाकिज के सामने जहाँगीराबाद), भोपाल में एकत्रित होकर धरना, प्रदर्शन एवं सभा का आयोजन करेंगे।
हरि प्रसाद पाल / 08 जनवरी, 2019