ट्रेंडिंग

अगले पांच वर्ष के लिए फिर से रघुवर दास को समर्थन दें-अमित शाह

18/09/2019


जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत के साथ चुनाव अभियान का फूंका बिगुल, रघुवर दास के नेतृत्व में ही विधानसभा चुनाव में उतरने का दिया संकेत
जामताड़ा,(ईएमएस)। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को जामताड़ा से जन आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत करने के साथ ही विधानसभा चुनाव को लेकर औपचारिक रूप से पार्टी के चुनाव अभियान की शुरुआत की। अमित शाह ने साफ संकेत दिया है कि पार्टी मुख्यमंत्री रघुवर दास को ही पार्टी का चेहरा बनाकर आगामी विधानसभा चुनाव में उतरेगी।
जामताड़ा के काली मंदिर मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्त्ताओं और आमजन का आह्वान किया कि अगले पांच वर्ष के लिए फिर से रघुवर दास के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को समर्थन दे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में झारखंड में बदलाव लाने का प्रयास किया गया है, पिछले पांच वर्ष में रघुवर दास सरकार ने राज्य के विकास के लिए काफी काम किया है और अब मुख्यमंत्री जन आशीर्वाद यात्रा लेकर निकले है, लोग समर्थन दे और फिर से राज्य में भाजपा सरकार बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मजबूती प्रदान करें। अमित शाह ने संतालपरगना की सभी 18 सीटों पर कब्जा करने के लिए पार्टी कार्यकर्त्ताओं से एकजुट होकर कार्य करने का आह्वान किया और लोगों से इस संकल्प तथा लक्ष्य को पूरा करने के लिए मुठ्ठी बंद कर संकल्प लेने की अपील की और भारत माता की जय के नारे भी लगवाये।
अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने पाकिस्तान को अपनी जगह दिखाने का काम किया है और डंके की चोट पर धारा 370 हटाकर यह बताने का काम किया है कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है, इसे कोई भारत से छीन नहीं सकता है। उन्होंने कहा कि अब झारखंड की जनता को यह तय करना है कि लोग धारा 370 हटाने का निर्णय लेने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ है या इसका विरोध करने वाले कांग्रेस या झामुमो के साथ है। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा कि वे महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए जाय, तो धारा 370 पर पार्टी के दृष्टिकोण को स्पष्ट करें। गृहमंत्री ने का कि देश की एकता-अखंडता पर पक्ष-विपक्ष की बात नहीं होनी चाहिए। 1971 में जब पाकिस्तान से अलग होकर बांग्लादेश अलग देश बना था, तो विपक्ष में रहते हुए अटल बिहारी वाजपेयी ने सरकार का समर्थन किया था, बाद में जब पीवी नरसिंहा राव की सरकार के समय संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा उठा, तो तत्कालीन प्रधानमंत्री ने विपक्ष के नेता अटल बिहारी वाजपेयी को देश की ओर से अपनी बात रखने के लिए यूएन भेजा था। लेकिन आज जब देश की एकता-अखंडता और विरोधियों को जवाब देने के लिए भारत सर्जिकल स्ट्राइक करता है, एयर स्ट्राइक करता है, तो विरोधियों की ओर से जवाब मांगा जाता है। धारा 370 को हटाने के लिए संसद में जब वोटिंग हुई, तो कांग्रेस और झामुमो ने विरोध किया, भाजपा राहुल गांधी यह जानना चाहती कांग्रेस पार्टी का इस मसले पर दृष्टिकोण किया है।
अमित शाह ने कहा कि झारखंड वर्षा से नक्सलवाद से ग्रस्त था, लेकिन आज यह प्रदेश पूर्णतः नक्सल मुक्त राज्य बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने राज्य सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने राज्य के 1.35करोड़ परिवारों तक एलईडी बल्ब मिले 29लाख परिवारों को उज्ज्वला योजना के तहत निःशुल्क गैस कनेक्शन मिला, 33लाख शौचालय बनाये गये, 2300 पंचायतों तक इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध करायी गयी, लगभग हर व्यक्ति का स्वास्थ्य बीमा कराया गया। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी दो-तीन बार भाजपा की सरकार बनी, लेकिन अर्जुन मुंडा नेतृत्व वाली सरकार को गिराने का काम किया गया। 2014 में स्थिर सरकार बनने के बाद विकास के कार्यां में तेजी आयी। आने वाले समय में हर घर में स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने की दिशा में काम किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि दस वर्षां तक केंद्र में कांग्रेस नेतृतव वाली सरकार रही, इस दौरान झारखंड को सिर्फ 55200 करोड़ रुपये दिये गये, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेतृत्व वाली सरकार ने पांच वर्षां में ही झारखंड के विकास के लिए 1.45लाख रुपये उपलब्ध कराने का काम किया। बाद में अमित शाह ने जन आशीर्वाद यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
सिन्हा/2.30/18सितंबर19