राज्य समाचार

6 महीने बाद एक दिन में 27 मौतें

08/04/2021

-प्रदेश में रिकार्ड 4324 नए केस, एक्टिव केस 28 हजार के पार
भोपाल (ईएमएस)। मप्र में कोरोना बेकाबू हो चुका है। पिछले 24 घंटे में रिकार्ड 4324 केस मिले हैं। 27 मरीजों की मौत हुई है। 6 महीने में यह एक दिन में मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 9 अक्टूबर 2020 को 27 मौतें दर्ज की गई थीं। एक्टिव केस भी 28 हजार के पार पहुंए गए हैं। कोरोना की पहली लहर में एक्टिव केस 21 हजार के पार नहीं हो पाए थे। एक सप्ताह में 2.5 प्रतिशत की वृद्धि के साथ पॉजिटिविटी रेट 7 अप्रैल को 13 प्रतिशत हो चुका है।
कोरोना को कंट्रोल करने के लिए पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार का लॉकडाउन किया गया है। प्रदेश के 52 में से सिर्फ 9 जिले श्योपुर, अलीराजपुर, भिंड, छतरपुर, बुरहानपुर, दतिया, मुरैना, निवाड़ी और सीधी में 20 से कम पॉजिटिव केस है। शेष जिलों में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।
एक सप्ताह में 24,281 कोरोना संक्रमित मिले
अप्रैल माह के आंकड़े देखे तो एक सप्ताह में 24,281 कोरोना संक्रमित मिले। इस अवधि में 115 मरीजों की इलाज के दौरान मौत हुई। सबसे ज्यादा चिंताजनक यह है कि इन 7 दिनों में 8,724 एक्टिव केस बढ़े है। यही वजह है कि सरकार ने अस्पतालों में व्यवस्थाएं बढ़ाना शुरु कर दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बेड़ बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इससे पहले प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में 50 एक सप्ताह में 24,281 कोरोना संक्रमित बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व रखने के निर्देश दिए थे।
बड़े शहरों में कंटेटमेंट एरिया बढ़ाए जाएंगे
मुख्यमंत्री ने बैठक के बाद कहा कि मेरी मंशा लॉकडाउन लगाने की नहीं रही है। लेकिन अब अभूतपूर्व संकट है। प्रदेश के सभी शहरी क्षेत्रों में दो दिन का लॉकडाउन करने का निर्णय लिया गया है। बड़े शहरों में कंटेटमेंट एरिया बढ़ाने का फैसला लिया है। कोरोना मरीजों के इलाज की सभी व्यवस्थाएं करेंगे।
बेड की संख्या बढ़ाकर 1 लाख की जाएगी
सरकार ने तय किया है कि अब कोरोना मरीजों के लिए 1 लाख बेड की व्यवस्था की जाएगी। इसमें से अधिकतर कोविड केयर सेंटर में होंगे आक्सीजन की सप्लाई का कोई संकट नहीं है। भिलाई स्टील प्लांट से ऑक्सीजन मिलना शुरू हो जाएगी। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से चर्चा हुई है। दवाओं की कमी ना रहे, इसका प्रबंध किया जा रहा है।
प्रतिदिन होगी क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक
जिन शहरों में संख्या बढ़ रही है, वहां क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की आज बैठकें होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रुप की बैठक अब अब प्रतिदिन करने के निर्देश सभी कलेक्टरों को दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे आज शाम को प्रदेश के सभी सांसदों से भी वर्जुअल बैठक करेंगे।
विनोद कुमार उपाध्याय, 08 अप्रैल, 2021