मनोरंजन

(रंग-संसार) अमिताभ की बात जो ममता के नहीं आई समझ

13/11/2018

क्या आप सोच सकते हैं कि सदी के महानायक अमिताभ बच्चन कोई बात कहें और वो सामने वाले को समझ ही न आए। दरअसल ऐसा हुआ है और वो भी मंच पर। बात 24वें कोलकाता इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की है जहां श‍िरकत करने अमिताभ बच्चन पहुंचे थे और इस 8 दिवसीय कार्यक्रम का उद्धाटन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कर रहीं थीं। समारोह में जब अमिताभ बच्चन स्टेज पर पहुंचे तो उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कहा, 'मैंने कितनी बार मना किया है, दीदी मुझे अब यहां नहीं बुलाया करें।' अब चूंकि अमिताभ का लहजा मजाकिया और लोगों में जोश भरने वाला था अत: ममता बनर्जी ने भी इशारों से मजाकिया अंदाज में जवाब दे दिया कि उन्हें कुछ सुनाई नहीं दिया और न ही उन्हें कुछ समझ में आया। मतलब साफ था कि समारोह होगा तो अमिताभ को आना पड़ेगा यूं ही उन्हें निमंत्रण मिलते रहेंगे। इससे पहले मंच पर पहुंचे अमिताभ ने लोगों के जोश को देखकर हंसते हुए कहा, 'मैं यहां आकर हर बार जो चीज ह‍िंदी में बोलता रहा हूं वो अब बंगाली में कह रहा हूं। उम्मीद है कि ममता दीदी मेरी इस बात को समझ जाएंगीं। यहां आकर अब वाकई बोलने के लिए मेरे पास कुछ भी नहीं है।' बिग बी के मजाकिया अंदाज को देख दर्शक और स‍ितारे अपनी हंसी को रोक नहीं पाए और इसका फायदा उठाते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इशारों ही इशारों में कह दिया 'यह बात उनकी समझ में ही नहीं आई।' गौरतलब है कि इस फिल्म फेस्टिवल में सदी के महानायक अमिताभ बच्चन समेत उनकी पत्नी जया बच्चन, किंग खान शाहरुख, विश्वजीत चटर्जी, वहीदा रहमान के अलावा बंगाल की एक्ट्रेस माधवी मुखर्जी, फिल्म डायरेक्टर माजिद मजीदी, सावित्री चटर्जी, एक्ट्रेस और डायरेक्टर नंदिता दास, रंजीत मल्लिक, सिमोन बेकर, फिलीप नोयेस, जिल बिलकोक आदि अनेक कलाकार मौजूद थे।

फिल्म केदारनाथ का विवाद थमता नहीं दिखता
यह तो सभी जान ही चुके हैं कि फिल्म केदारनाथ "लव जिहाद" के आरोपों के चलते विवादों में है। विवादों के बीच ही सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान स्टारर फिल्म 'केदारनाथ' का जहां टीजर पहले ही लॉंच किया जा चुका है तो वहीं अब ट्रेलर भी रिलीज हो गया। ट्रेलर से पहले आए टीजर को सोशल मीडिया पर खूब पसंद भी किया गया। फैंस को सारा और सुशांत की केमिस्ट्री पसंद आई है। इससे पहले कि ट्रेलर रिलीज होता फिल्म निर्माताओं ने एक पोस्टर जारी किया, जिसमें सारा और सुशांत को फीचर किया गया। इस पोस्टर को फिल्म निर्देशक अभिषेक कपूर ने सोशल मीडिया पर साझा किया है। गौरतलब है कि फिल्म केदारनाथ के टीजर रिलीज होने के साथ ही फिल्म के कंटेंट को लेकर विवाद भी शुरू हो गया था, जो कि अब तक जारी है। दरअसल इस कंटेंट को लेकर उत्तराखंड में केदारनाथ के तीर्थ पुरोहितों ने विरोधी स्वर छेड़े थे। उन्होंने फिल्म को हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने वाली बताया, जबकि सवाल करने वाले कह रहे हैं कि जब फिल्म आई ही नहीं और उसकी कहानी भी किसी को मालूम नहीं फिर यह कैसे विरोध किया जा सकता है। इसलिए कहा जा रहा है कि फिल्म रिलीज होने तक यह विरोध चलता रहेगा, जिसे फिलहाल रोक पाना मुमकिन नहीं लग रहा है।

राखी सावंत को आया समझ जुबान में नहीं हाथ-पैरों में होनी चाहिए दम
बॉलीवुड की आइटम गर्ल और अपने बयानों से सदा विवादों में रहने वाली अदाकारा राखी सावंत जुबानी जंग की बजाय रेसलर से भिड़ गईं। इसका खामियाजा भी उन्हें भुगतना पड़ा और इलाज के लिए उन्हें अस्पताल तक जाना पड़ गया। दरअसल राखी सावंत पंचकूला के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित सीडब्ल्यूई रेसलिंग प्रोग्राम में हिस्सा लेने पहुंचीं थीं। इस बीच ऐसा कुछ हुआ कि महिला रेसलर रोबेल ने राखी सावंत को कंधे पर उठाया और जोर से नीचे पटक दिया। संभवत: राखी इसके लिए तैयार नहीं थीं इसलिए वो चोटिल हो गईं। उनकी कमर में चोट आने की बात कही जा रही है। इस सीडब्ल्यूई चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए अंतरराष्ट्रीय रेसलिंग खिलाड़ी द ग्रेट खली समेत अनेक माने हुए रेसलर भी पहुंचे थे। इस चैंपियनशिप के दौरान ही महिला रेसलर रोबेल रिंग में पहुंचीं और उन्होंने पंचकूला की महिलाओं को मुकाबले के लिए ललकारा। रोबेल के चैलेंज को स्वीकार करते हुए राखी रिंग में उतर गईं। राखी ने रिंग में डांस का तड़का लगाते हुए रोबेल को चैलेंज किया कि पहले वो उनके चैलेंज को पूरा करें। इसके बाद रोबेल एक गाने पर राखी के साथ डांस करती नजर आईं इसके बाद जैसे ही गाना खत्म हुआ रोबेल ने राखी को कंधों पर उठा लिया और इससे पहले कि वो कुछ समझ पातीं जोर से नीचे फेंक दिया। इससे राखी सावंत को चोट आ गई और उन्हें फौरन ही जीरकपुर के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया। इस घटना के बाद लोग चुटकियां ले रहे हैं और कह रहे हैं कि अब राखी सासमझ ही गई होंगी की सिर्फ जुबान को दमदार बनाने से काम नहीं चलता है रिंग में उतरने के लिए हाथ-पैरों में भी दम होना चाहिए।


ठग्स की निगेटिव पब्लिकसिटी भी नहीं आई काम
बॉलीवुड के परफेक्टनिस्ट आमिर खान की फिल्म ठग्स ऑफ हिंदोस्तान की समीक्षकों और आलोचकों ने शुरु से निगेटिव पब्लिकसिटी की थी, लेकिन महज तीन दिनों में सौ करोड़ी बनी फिल्म ने बतला दिया कि उसमें दम तो है। फिल्म के संबंध में अब बॉलीवुड एक्टर सुनील शेट्टी का बयान सामने आया है और इसे समीक्षकों के बयान से जोड़कर देखा जा रहा है। गौरतलब है कि शेट्टी ने 'ठग्स ऑफ हिंदोस्तान' के निर्माताओं के समर्थन में कहा है कि फिल्म की आलोचना सुनने को मिल रही हैं जबकि फिल्म देखकर आए मेरे कई दोस्तों को यह काफी पसंद आई है। शेट्टी ने आलोचकों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि 'आजकल हर कोई स्वयं को फिल्म समीक्षक मानने लगा है।' गौरतलब है कि फिल्म को कहानी और निर्देशन के घटिया स्तर को लेकर आलोचकों ने जमकर निशाने पर लिया हुआ है। बावजूद इसके फिल्म ने महज तीन दिन में सौ करोड़ से ज्यादा की कमाई करके एक तरह से आचोचकों को आईना दिखाने जैसा काम कर दिखाया है।
ईएमएस/ 13 नवम्बर 2018