व्यापार

इलेक्ट्रिक वाहनों से पॉल्यूशन नियंत्रण में मिलती मदद

28/07/2022

-चलते समय आवाज नहीं करते बल्कि साइलेंट रहते हैं
नई दिल्ली (ईएमएस) । इलेक्ट्रिक वाहन परंपरागत ईंधन वाले वाहनों से कई मामलों में बेहतर होते हैं। इनमें से एक खूबी है कि ये वाहन शोर नहीं करते जिससे नॉइज पॉल्यूशन पर नियंत्रण करने में मदद मिलती है। इलेक्ट्रिक वाहन चलते समय आवाज नहीं करते बल्कि साइलेंट रहते हैं। यह इन वाहनों की एक बड़ी खूबी है लेकिन जल्द ही इसमें बदलाव किए जा सकते हैं।
भारत सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर नए नॉर्म्स ला सकती है। सरकार का मानना है कि इलेक्ट्रिक वाहनों का साइलेंट होना जरूरी नहीं है। सरकार का तर्क है कि इलेक्ट्रिक वाहनों में आवाज होने से आस पास के दूसरे वाहन और पैदल यात्री अलर्ट हो सकेंगे। इन नॉर्म्स को ऑटोमोटिव इंडस्ट्री स्टैंडर्ड्स कमेटी ने प्रस्तावित किया है। अभी दो पहिया इलेक्ट्रिक वाहनों के बारे में ये नॉर्म्स तय नहीं किए गए हैं लेकिन इलेक्ट्रिक कारों में यह बदलाव जल्द देखने को मिल सकता है।इस बीच सरकार इलेक्ट्रिक हाइवे भी लाने की तैयारी कर रही है। भारत समेत दुनिया भर के कई देशों में वायु प्रदूषण आधुनिक दौर की एक बहुत बड़ी समस्या बन चुकी है और इसी कड़ी में भारत सरकार दिल्ली और मुंबई के बीच नया एक्सप्रेस वे लाने की तैयारी कर रही है।
दोनों शहरों के बीच बनने वाला यह एक्सप्रेस वे इलेक्ट्रिक होगा और इस पर चलने वाले वाहन ओवरहेड वायर के जरिए चार्ज हो सकेंगे। बता दें कि भारत समेत दुनिया भर के ऑटोमोबाइल बाजार में इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग बढ़ रही है। बीते कुछ सालों में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को लेकर लोगों में जागरुकता बढ़ी है और परंपरागत वाहनों के साथ साथ अब इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए भी कस्टमर बेस बाजार में बढ़ रहा है। इसीलिए सिर्फ दिग्गज ऑटोमोबाइल कंपनियां ही नहीं बल्कि कई स्टार्ट अप्स भी इस क्षेत्र में आगे आ रहे हैं।
सुदामा/ईएमएस 28 जुलाई 2022