राष्ट्रीय

मुंबई मेट्रो-3 के नाम पर पेड़ों को धूर्तता से काटा जाना शर्मनाक : आदित्य ठाकरे

05/10/2019

मुंबई (ईएमएस)। मुंबई मेट्रो-3 के नाम पर पेड़ों को धूर्तता से काटा जाना शर्मनाक और गलत है यह आरोप शिवसेना प्रत्याशी आदित्य ठाकरे ने भाजपा सरकार पर लगाया है। दरअसल, उत्तरी मुम्बई में हरियाली भरे क्षेत्र आरे कॉलोनी में पेड़ों की कटाई का विरोध करने वाली याचिकाएं उच्च न्यायालय से खारिज होने के कुछ ही घंटे बाद कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने पेड़ काटना शुरू कर दिया है। कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि जिन 2600 से अधिक पेड़ों को काटा जाना है, सूत्रों के मुताबिक, अभी तक 800 से ज्यादा पेड़ काटे जा चुके हैं। पेड़ काटने के लिए और भी मशीन्स साइट पर मंगवाई गई हैं। इसके विरोध में कई प्रदर्शनकारी मौके पर पहुंच गए। मेट्रो रेल साइट पर जमकर नारेबाजी की। इस बीच पुलिस ने आरे की तरफ जाने वाली सभी सड़कों पर बैरिकेड लगा दिए हैं। इस सब हंगामे के बीच शनिवार को आरे में धारा 144 लागू कर दी गई है।
वहीं शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे एक के बाद एक कई ट्वीट कर उन्होंने पेड़ों की कटान पर महाराष्ट्र सरकार और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। आदित्य ठाकरे ने पेड़ों को काटने के विरोध में लिखा कि जिस तरह से मुंबई मेट्रो-3 के नाम पर पेड़ों को धूर्तता से काटा जा रहा है, वह शर्मनाक और गलत है। केंद्र सरकार के जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के अस्तित्व में आने या प्लास्टिक प्रदूषण के बारे में बात करने का कोई मतलब नहीं है, जब मुंबई मेट्रो के तृतीय परियोजना के तहत आरे कॉलोनी के आसपास के क्षेत्र को नष्ट किया जा रहा है।
सोशल मीडिया पर पेड़ों को काटने का वीडियो वायरल हो गया लेकिन मुम्बई मेट्रो रेल निगम के अधिकारियों से अब तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है कि वाकई नियोजित मेट्रो कार शेड के लिए पेड़ों की कटाई शुरू हो गई है। लेकिन प्रस्तावित कार शेड स्थल पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं क्योंकि शुक्रवार देर रात सैकड़ों लोग पेड़ों को काटने से रोकने के लिए पहुंच गये थे। कई ट्वीट कर इस मुद्दे पर महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस सरकार और बृहन्मुम्बई महानगरपालिका की निंदा की गई है।
विपिन/ ईएमएस/ 05 अक्टूबर 2019