अंतरराष्ट्रीय

रूस की सत्ता से बाहर गए तो पुतिन की हो सकती है हत्या, पूर्व अमेरिकी जनरल ने किया दावा

04/05/2022

वॉशिंगटन (ईएमएस)। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन पूरी तरह यूक्रेन जंग को जीतना चाहते हैं। इसके लिए कुछ शहरों पर रूसी सेना नए सिरे से हमले कर रही है। हालांकि, इस जंग का खामियाजा रूस को भी भुगतना पड़ा है। इस बीच पूर्व अमेरिकी जनरल ने दावा किया है कि रूस में सैन्य तख्तापलट की आशंका है। उन्होंने कहा कि अगर पुतिन सत्ता से हटे, तो उनकी हत्या हो सकती है। पूर्व अमेरिकी जनरल जैक केन का कहना है कि पुतिन ने युद्ध को जिस कमजोर तरीके से संभाला है, उससे रूसी सेना के वरिष्ठ अधिकारी और सिक्योरिटी सर्विस से जुड़े लोग निराश हैं। रूसी विदेश खुफिया सेवा के प्रमुख सर्गेई नारिश्किन भी असंतुष्ट हैं। आने वाले दिनों में ये अंसतोष भड़क सकता है।
हालांकि, जनरल जैक केन कहते हैं कि सत्ता में रहने के लिए पुतिन कुछ भी कर सकते हैं। हमें सच्चाई स्वीकार करनी चाहिए कि पुतिन कहीं नहीं जाने वाले। पुतिन को पता है कि अगर कोई और सत्ता में आया तो वह जिंदा नहीं रहेंगे। एक बातचीत में नरल जैक केन ने कहा, ‘पुतिन का लक्ष्य हर हाल में सत्ता में रहना है। वह सत्ता के लिए कुछ भी करेंगे। पुतिन इस बात को जानते हैं कि अगर उनकी जगह कोई और आया तो उनका अंत निश्चित है।’ उन्होंने आगे कहा कि पुतिन सत्ता में बने रहने के लिए लड़ रहे हैं और इसके साथ ही वह अपने लक्ष्य के लिए दृढ़ हैं, इसी लिए उनका ध्यान यूक्रेन में है। वह अभी भी यूक्रेन पर कब्जा करना चाहते हैं। मैं पुतिन को गंभीरता से लेता हूं। हमने उन्हें कई बार छूट दी है, लेकिन वह एक बार फिर रूसी साम्राज्य को वापस लाना चाहते हैं। ये भी सच है कि अगर पुतिन राष्ट्रपति न रहें तो उनका कोई भविष्य नहीं होगा।
जानकारी के मुताबिक रूस में शक्तिशाली पॉलिटिकल और सैन्य धड़ा कीव से सेना के पीछे हटने और डोनबास पर नियंत्रण रखने को एक गंभीर त्रुटि मानते हुए पुतिन को जिम्मेदार ठहरा रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि रूस को उम्मीद थी कि वह बेहद आसानी से यूक्रेन की राजधानी कीव तक पहुंच जाएंगा, लेकिन सच्चाई ये है कि उन्हें यूक्रेन की सेना से उसे कड़ी टक्कर मिली है। इस बीच क्रेमलिन के एक अंदरूनी सूत्र ने दावा किया है कि व्लादिमीर पुतिन जल्द ही कैंसर का ऑपरेशन करवाने जा रहे हैं। पुतिन के ऑपरेशन को लेकर दावा एक लोकप्रिय टेलीग्राम चैनल पर किया गया है। इसमें बताया गया है कि पुतिन के ऑपरेशन के बारे में पुष्टि क्रेमलिन के उसके एक विश्वसनीय सूत्र ने की है। जनरल एसवीआर ने बताया कि पुतिन को 18 महीने पहले पेट का कैंसर और पार्किंसन नाम की बीमारी है।
अनिरुद्ध, ईएमएस, 04 मई 2022