राज्य समाचार

तिरंगा संक्ल्प यात्रा में बोले मनीष सिसोदिया

14/09/2021

-बीजेपी और योगी सरकार ना है आम की न राम की, इन्होंने राम मंदिर के चंदे तक में किया घोटाला
- हमारे दिल में हैं राम और हमारे बगल में है संविधान, अयोध्या में तिरंगा यात्रा का यही है पैगाम। रामराज के उच्च आदर्शों पर यूपी में आम आदमी पार्टी बनाएगी सरकार
अयोध्या/नई दिल्ली (ईएमएस)। आम आदमी पार्टी ने मंगलावर को पार्टी के वरिष्ठ नेता व दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह के नेतृत्त्व में अयोध्या में तिरंगा संकल्प यात्रा का आयोजन किया। इस यात्रा में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया। आम आदमी पार्टी पूरे उत्तरप्रदेश में तिरंगा संकल्प यात्रा का आयोजन करेगी। इस अवसर पर श्री सिसोदिया ने कहा कि कल अयोध्या में राम लला के दर्शन कर हमने अर्जी लगाई है कि आम आदमी पार्टी को उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने का अवसर मिले। ‘आप’ प्रदेश में ऐसी सरकार बनाएगी जो भगवन राम के आदर्शों से प्रेरणा लेकर काम करेगी। उन्होंने कहा कि प्रभु श्रीराम की कृपा से दिल्ली में उनके आदर्शों के अनुरूप सरकार चल रही है और अरविंद केजरीवाल जी पूरे देश में एकमात्र ऐसे मुख्यमंत्री है जो प्रभु श्रीराम के आदर्शों का पालन कर सरकार चला रहे है। उन्होंने कहा कि हमारे दिल में प्रभु श्री राम हैं और बगल में संविधान है। अयोध्या में तिरंगा यात्रा के साथ हमारा यही पैगाम है कि आम आदमी पार्टी रामराज के उच्च आदर्शों के साथ यूपी में सरकार बनाएगी और बाबा साहेब के सपनों को साकार करेगी।उन्होंने कहा कि यूपी की योगी सरकार न आम लोगों की है और न ही प्रभु श्री राम की है। ना ये आम के हुए ना राम के। उन्होंने कहा कि योगी सरकार गुंडाराज खत्म करने के बजाय प्रदेश में गुंडाराज को बढ़ावा दे रही है। दूसरी ओर किसानों का हाल बदहाल है। अन्नदाताओं को उनका हक़ देने के बजाय उन्हें गुंडा, मवाली और आतंकवादी की संज्ञा दिया जा रहा है। ये बेहद शर्मनाक है।
मनीष सिसोदिया ने कहा कि आजादी के 75वें साल में श्री राम की नगरी अयोध्या में हम तिरंगे की ओर देख कर ऐसी सरकार बनाने का संकल्प ले रहे हैं जो इस तिरंगे के नीचे खड़े हर व्यक्ति को अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, महिलाओं को सुरक्षा मुहैया करवाएं। उन्होंने कहा कि योगी जी ने 4.5 साल पहले उत्तर प्रदेश की जनता से बड़े-बड़े वादे किए कि अगर उत्तर प्रदेश में उनकी सरकार बनी तो यूपी को गुंडा राज से मुक्ति मिलेगी, भ्रष्टाचार से मुक्ति मिलेगी, युवाओं को नौकरी मिलेगी। योगी जी ने सपना दिखाया कि किसानों को उनकी फसल का दोगुना मूल्य मिलेगा, ऐसी कानून व्यवस्था स्थापित करेंगे जहाँ माता-बहने सुरक्षित रहेंगी। पर योगी सरकार ने केवल और केवल जनता को धोखा दिया है।
-गुंडाराज ख़त्म करने के बजाय गुंडों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी योगी सरकार
श्री सिसोदिया ने कहा कि पिछले 4.5 सालों में योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश को गुंडाराज से मुक्ति देने के बजाय गुंडाराज को बढ़ावा दिया है। जयप्रकाश पाल की अधिकारियों और पुलिस के सामने सरेआम हत्या कर दी गई। हाथरस में एक बच्ची के साथ दरिंदगी हुई लेकिन योगी सरकार ने बच्ची के परिवार का साथ देने के बजाय दरिंदों के साथ खड़ा रहना ज्यादा बेहतर माना। गुंडाराज ख़त्म करने का सपना दिखने वाली भाजपा की योगी सरकार गुंडों व बलात्कारियों के साथ खड़ी रही। और अपने कुकर्म को छुपाने के लिए रात के 2 बजे पुलिस द्वारा उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। योगी सरकार ने न केवल गुंडाराज को बढ़ावा दिया बल्कि गुंडों के साथ भी खड़ी रही। आज यूपी के सारे अख़बार छोटी बच्चियों के साथ हुए बलात्कार की घटनाओं से भरे होते है लेकिन योगी सरकार इतनी निर्दयी हो चुकी है कि कानून व्यवस्था को सुधारने के बजाय दरिंदों से कन्धे से कन्धा मिलाकर कड़ी है।
-योगी सरकार में भ्रष्टाचारियों की बहार
योगी सरकार के दौरान यूपी में भ्रष्टाचारियों की बहार आ गई। इस बाबत श्री सिसोदिया ने कहा कि योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार मुक्त करने का वादा किया लेकिन कोरोना के दौरान जब पूरे देश में स्कूल बंद रहे उस दौरान बस्ता और स्टेशनरी बांटने के नाम पर योगी सरकार ने 9 करोड़ रुपयों का घोटाला किया। कोरोना के दौरान 8 लाख का वेंटीलेटर खरीद उसे 22 लाख का दिखाया। और योगी सरकार ने भ्रष्टाचार की सारी हदे पार करते हुए श्री राम के नाम पर घोटाला किया। राम मंदिर बनाने के नाम पर माताओं-बहनों ने अपने जेवर बेच कर, किसानों व आम आदमी ने अपनी बचत के पैसों से चंदा दिया। लेकिन भाजपा और योगी सरकार ने उस चंदे के पैसों में भी बेईमानी की। आज यूपी की ऐसी कोई तहसील, पुलिस स्टेशन या सरकारी दफ्तर ऐसा नहीं हा जहाँ पैसे लिए बिना काम होता हो। ये दिखाता है कि योगी सरकार न आम की है न राम की है।
पिछले 4.5 सालों में यूपी में भर्ती परीक्षाएं हुई, इंटरव्यू हुए लेकिन इतने सालों में अब भी लोगों को नियुक्ति पत्र नहीं मिला। योगी जी के कार्यकाल में इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ जब अपने हकों के लिए सुहागिन महिलाओं ने अपना सिर मुंडवाया। क्योंकि योगी सरकार इन शिक्षामित्रों की नौकरियां खाने में लगी हुई है। आज यूपी में ऐसी कोई भी मंडी नहीं है जहाँ किसानों को एमएसपी के अनुसार किसानों को उनकी फसलो का दाम मिलता है। योगी सरकार ने किसानों को फसलों का दोगुना दाम देने का वादा किया था लेकिन किसानों को उनकी फसल का आधा दाम भी बड़ी मुश्किल से मिल पा रहा है। और जब किसान अपने हकों की मांग कर रहे है तो भाजपा और योगी सरकार उन्हें गुंडा,मवाली और आतंकवादी कह रही है। आजादी के 75 सालों के बाद भी अन्नदाताओं के साथ ये व्यवहार बेहद शर्मनाक है।
-योगी सरकार के 4.5 साल में उत्तर प्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा बदहाल
श्री सिसोदिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश में शिक्षा के हालात इतने बदहाल है कि जब मैं उत्तर प्रदेश की राजधानी में स्कूलों को देखने गया तो मुझे पुलिस द्वारा रोक लिया गया। क्योंकि योगी सरकार के पास एक भी ऐसा स्कूल नहीं है जिसे वो मॉडल स्कूल बोल सके। उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की बदहाली को कोरोना के समय में देखा जा सकता है जब इलाज की कमी से हजारों लोग मरे और गंगा में लाशें तैरती हुई दिखी। आज उत्तर प्रदेश के गावों से लोग साईकिल पर बैठा कर डेंगू के इलाजों के लिए अपने बच्चों को शहरों में लेकर आ रहे लेकिन न तो उन्हें अस्पताल में बेड मिल पा रहा है और न ही इलाज। मा-बाप अपने बच्चों को उसी हालत में घर वापस ले जाने को मजबूर है। ये तस्वीरे दिल हिलाने वाली है। ये भाजपा का फर्जी राष्ट्रवाद है।
-केजरीवाल मॉडल ऑफ़ गुड गवर्नेंस बदलेगा उत्तर प्रदेश की तस्वीर
उन्होंने कहा कि हम भाजपा के इस फर्जी राष्ट्रवाद को चुनौती देंगे और इस संकल्प के साथ तिरंगा यात्रा निकालेंगे कि उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार, लूट, दंगाइयों और गुंडों से मुक्त करेंगे। हमारे दिल में राम है और हाथ में संविधान। और इस संविधान को बनाते हुए बाबा साहब ने भारत के लिए जो सपना देखा तिरंगा लेकर हम उस सपने को पूरा करेंगे। हम इस तिरंगा यात्रा द्वारा तिरंगे के नीचे खड़े होकर ये संकल्प लेते है कि आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार सुनिश्चित करेगी, किसानों को उनके फसलों का वाजिब दाम मिलेगा, महिलाओं को सम्मान और सुरक्षा मिलेगी। हर बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिलेगी। प्रदेश के गाँव-गाँव में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाई जाएगी। हम अरविंद केजरीवाल सरकार के गुड गवर्नेंस के मॉडल को यूपी में लाकर उत्तर प्रदेश को खुशहाल प्रदेश बनायेंगे।
धर्मेन्द्र, 14 सितम्बर, 2021