ज़रा हटके

ट्रेन छूटने के से 4 घंटे पहले तक टिकट कैंसिल नहीं करा पाए तो रिफंड में नहीं मिलेगा एक भी पैसा

05/08/2022

नई दिल्ली (ईएमएस)। भारतीय रेल में यात्रा करने वाले कई बार नियमों की पूरी जानकारी न होने के कारण भारी आर्थिक नुकसान उठाते है। रेलवे के ऐसे ही एक नियम के बारे में बता रहे हैं। रेलवे में यात्रा के लिए टिकट बुकिंग बेहद जरूरी है। हम अक्सर यात्रा से पहले एडवांस में टिकट बुक करा लेते हैं, लेकिन कई कारणों से हमें यात्रा कैंसल करनी पड़ती है। टिकट कैंसिल से जुड़े कई नियम होते हैं। इन नियमों की जानकारी यात्रियों को होना बेहद जरूरी है।
आपको पता होना चाहिए कि टिकट कैंसिल करने पर आपको कितना कैंसिलेशन चार्ज देना पड़ता है। अगर आप को इन नियमों का पता होगा तो आपको टिकट कैंसिल कराने पर रिफंड मिलेगा और आप नुकसान से बच सकेंगे। आइए जानते हैं इन नियमों के बारे में। कई बार ऐसा होता है कि चार्ट बनने के बाद भी आपका टिकट आरएसी वेटिंग लिस्ट में रहता है। ऐसे में अगर आप टिकट कैंसिल करते हैं तो ट्रेन के शेड्यूल्ड डिपार्चर टाइम से 30 मिनट पहले अपना टिकट कैंसिल कराते हैं तो स्लीपर क्लास में 60 रुपये कैंसिलेशन चार्ज लगेगा। जबकि एसी क्लास में 65 रुपये की कटौती होगी और बाकी की धनराशि आपको वापस मिल जाएगी।
ट्रेन के डिपार्चर टाइम से 48 घंटे पहले जनरल क्लास (2एस) में 60 रुपये प्रति यात्री कैंसिलेशन चार्ज देना होगा। वहीं, स्लीपर क्लास में 120 रुपये की कटौती होगी। जबकि एसी चेयर कार और थर्ड एसी में 180 रुपये का चार्ज काटा जाएगा। सेकंड एसी में 200 रुपये, फर्स्ट एसी और एग्जीक्यूटिव क्लास में 240 रुपये की कटौती की जाएगी। साथ ही इस पर जीएसटी भी लगेगा। अगर आप डिपार्चर टाइम से 12 घंटे पहले टिकट कैंसिल कराते हैं तो टिकट की धनराशि की 25 प्रतिशत कटौती की जाती है। वहीं, ट्रेन के डिपार्चर टाइम से 4 घंटे के पहले और 12 घंटे के बीच में अगर आप टिकट कैंसिल कराते हैं तो आपके टिकट का आधा पैसा कट जाता है। लेकिन, अगर आप ट्रेन के शेड्यूल डिपार्चर टाइम से 4 घंटे पहले तक टिकट कैंसिल नहीं करा पाए। तो इसके बाद आपको रिफंड का एक भी पैसा वापस नहीं मिलेगा।
विपिन/ईएमएस 05 अगस्त 2022