राष्ट्रीय

175 साल की उम्र में मगरमच्छ की मौत

09/01/2019


ग्रामवासी बनाएंगे मगरमच्छ का मंदिर
बेमेतरा (ईएमएस)। छत्तीसगढ़ के बेमेतरा के बाबा मोहतरा गांव के तालाब में 175 साल उम्र के मगरमच्छ की मौत हो गई। ग्रामीण इस मगरमच्छ को गंगा राम के नाम से पुकारते थे। इस मगरमच्छ की मौत होने के बाद ग्राम वासियों ने इस का मंदिर बनाने का निर्णय लिया है। इसकी मौत से सारे ग्रामवासी शोकाकुल हो गए थे।
ग्रामीणों ने 175 साल के मगरमच्छ गंगाराम की शव यात्रा ट्रैक्टर पर निकाली। ग्रामीणों का कहना है कि इस मगरमच्छ ने कभी किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया। तालाब में नहाते समय भी जब लोग इसे टकरा जाते थे । तो यह स्वयं हट जाता था। तालाब की मछलियां ही गंगाराम का भोजन थी। गांव के लोगों का और मगरमच्छ का इतना प्रेम हो गया था कि इसे गांव के लोग दाल-भात भी खिलाते थे। यह दाल-भात भी खाता था। गांव वासियों ने मंदिर बना कर इसकी यादें ताजा रखने की बात कही है।
एसजे/सोनी/09जनवरी19