ज़रा हटके

हवा में भी फैलता है कोरोना वायरस

12/07/2020

-डब्ल्यूएचओ ने कुछ शतों के साथ स्वीकार किया
जेनेवा (ईएमएस)। कोरोना वायरस हवा में फैल सकता है। यह बात विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कुछ शर्तों के साथ स्वीकार कर ली है।
इस बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब नई गाइडलाइन भी जारी कर दी है, जिसमें कुछ ऐसी प्रमुख बातें भी बताई गई हैं जिनके बारे में लोगों को जरूर जानना चाहिए ताकि हवा के जरिए फैलने वाले कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए जरूरी कदम समय पर उठाया जा सके। इस बारे में लगभग 32 देशों के वैज्ञानिकों ने दावा भी किया था जिसके बाद डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के माध्यम में हवा को भी शामिल किया है। बता दें, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने गाइडलाइन में इस बात की आशंका जताई है कि कुछ विशेष स्थानों पर कोरोना वायरस का संक्रमण हवा के जरिए फैल सकता है। इसमें भीड़ वाली जगह में एरोसोल ट्रांसमिशन के साथ-साथ रेस्टोरेंट और फिटनेस क्लासेस में भी हवा के जरिए कोरोना वायरस फैलने की बात कही गई है। साथ ही इस बात की भी आशंका जताई गई है कि किसी बंद जगह पर लंबे समय तक संक्रमित व्यक्ति के रहने के कारण भी कोरोना वायरस का संक्रमण उस जगह पर हवा के जरिए फैल सकता है। इसलिए लोगों को सबसे पहले इस बात के लिए जरूर सतर्क हो जाना चाहिए कि वे ऐसी जगह पर जाने से बचें जहां पर भीड़ हो। हालांकि, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस बारे में यह बताया है कि वह अभी भी दुनिया के अलग-अलग देशों के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर इस पर काम कर रहा है कि हवा के जरिए कोरोना वायरस अन्य किन जगहों पर और किस प्रकार से फैल सकता है। डब्ल्यूएचओ के द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइंस इस बात का सुझाव देती हैं कि हमें भीड़-भाड़ वाली जगहों पर और रेस्टोरेंट्स के साथ-साथ फिटनेस क्लासेस को भी जॉइन करने से बचना चाहिए। इसके साथ-साथ हमें किसी वेंटिलेशन की अच्छी सुविधा वाली बिल्डिंग में एंटर करना चाहिए।
सुदामा/ईएमएस 12 जुलाई 2020