राज्य समाचार

(विस) बिना अनुमति बोल रहे शिवराज को रोका

10/01/2019


विस अध्यक्ष ने टोकते हुए कहा, आप बैठ जाइए
भोपाल (ईएमएस)। मध्यप्रदेश विधानसभा में आज अध्यक्ष एनपी प्रजापति की बगैर इजाजत बोल रहे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सदन में बोलने से रोक दिया गया। अध्यक्षन ने कहा कि बिना अनुमति आप नहीं बोल सकते बैठ जाईए। दरअसल श्री चौहान विधानसभा की कार्यवाही जैसे ही प्रारंभ हुई अपनी सीट से खडे होकर बुधवार को राज्यसभा में पारित हुए सामान्य वर्ग के आरक्षण बिल पर धन्यवाद ज्ञापित करना शुरू कर दिया। उन्होंने गरीब सवर्णों के लिए आरक्षण के केन्द्र सरकार के निर्णय को एतिहासिक फैसला करार दिया। इस पर सत्ता पक्ष के विधायकों ने हंगामा कर दिया। विधानसभा अध्यक्ष ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को टोकते हुए कहा कि बिना अनुमति आप कुछ नहीं बोल सकते, आप बैठ जाए। अध्यक्ष की बात सुनते ही विपक्ष के सदस्यों ने भी हंगामा शुरू कर दिया। वरिष्ठ मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बिल पास करने को चुनावी स्टंट करार दिया। उन्होंने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि चार साल पहले आपने यह बिल पास क्यों नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के मन में खोट है।
प्रदेश की चिकित्सा मंत्री डा विजय लक्ष्मी साधौ ने कहा कि इसके साथ ही महिला आरक्षण बिल भी पास करवा देते तो अच्छा होता। हंगामा बढता हुआ देख अध्यक्ष श्री प्रजापति ने दोनों ही पक्षों को शांत होकर बैठने के लिए कहा। साथ ही उन्होंने सदस्यों को नसीहत दी कि कोई भी हमारी अनुमति के बगैर नहीं बोले। वहीं सदन में आज सत्ता पक्ष के विधायकों ने शिवराज सिंह की बैठने की जगह पर भी आपत्ति दर्ज कराते हुए अध्यक्ष से इसकी शिकायत की। दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री सदन में विपक्ष के नेता वाली जगह पर बैठे हुए थे उनके बगल में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव बैठे थे। सत्ता पक्षों के हंगामा और शिकायत करने के बाद शिवराज सिंह ने गोपाल भार्गव से उनकी जगह आने कहा। फिर दोनों ने अपनी सीट बदल ली।
सुदामा/10जनवरी2019