व्यापार

कम टैक्स के दम पर लाभ में लौटी ऑयल इंडिया

28/06/2020

-मार्च तिमाही में 925.64 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ
नई दिल्ली(ईएमएस)। सरकारी कंपनी ऑयल इंडिया लिमिटेड (ऑयल) को तेल एवं गैस की कीमतें कम होने के बावजूद कॉरपोरेट कर की देनदारी नीचे आ जाने से वित्त वर्ष 2019-20 की मार्च तिमाही में 925.64 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ है। कंपनी को साल भर पहले की समान तिमाही में 208.54 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। कंपनी ने कहा कि उसने नयी कर व्यवस्था का चयन किया। इससे रियायतें छोड़ देने के बाद कर की प्रभावी दर 25.17 प्रतिशत पर आ गयी। अभी कॉरपोरेट कर की दर 35 प्रतिशत है। उसने कहा, इसका परिणाम हुआ कि कॉरपोरेट कर की देनदारी 2019-20 में 821।01 करोड़ रुपये कम हो गयी। इसने तेल एवं गैस की कीमतें कम होने की भरपाई कर दी। कंपनी ने कहा, कोविड-19 तथा उत्पादन में कटौती को लेकर रूस व सऊदी अरब के बीच सहमति नहीं बन पाने से कच्चा तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतें गिर गयीं, इससे वित्त वर्ष 2019-20 और मार्च तिमाही में कच्चा तेल से होने वाली कमाई पर असर पड़ा।
मार्च तिमाही के दौरान कच्चा तेल का औसत भाव 52.18 डॉलर प्रति बैरल रहा। यह साल भर पहले की समान अवधि की औसत दर 61.76 डॉलर प्रति बैरल की तुलना में 15.51 प्रतिशत कम है। कंपनी ने कहा कि आलोच्य तिमाही के दौरान कुल राजस्व साल भर पहले से कुछ बढ़कर 3,583.72 करोड़ रुपये रहा। कंपनी के निदेशक मंडल ने 2019-20 के लिये 1.60 रुपये प्रति शेयर यानी 16 प्रतिशत के अंतिम लाभांश की सिफारिश की। ऑयल इंडिया ने असम के बागजन में गैस उत्पादन करने वाले कुएं में लगी आग को लेकर कहा कि उसे काबू करने के प्रयास जारी हैं। उसने कहा, ऑयल इंडिया लिमिटेड, ओएनजीसी और अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की दलें कुएं में लगी आग को यथाशीघ्र नियंत्रित करने के लिये काम कर रही हैं।
पवन/ईएमएस 28 जून 2020