व्यापार

पेट्रोल-डीजल पर सेस लगने के बाद पहली बार राहत

09/07/2019

नई दिल्‍ली (ईएमएस)। केंद्र सरकार द्वारा जारी आम बजट में पेट्रोल और डीजल पर लगभग 2 रुपये प्रति लीटर का अतिरिक्त कर लगा दिया गया। इसके अगले दिन ही पेट्रोल-डीजल के दामों में तेजी से बढ़ोतरी देखी गई। हालांकि मंगलवार को आम लोगों को थोड़ी राहत मिली। दरअसल, तेल कंपनियों ने डीजल के दाम दिल्ली में 10 पैसे, कोलकाता में 6 पैसे, जबकि मुंबई और चेन्नई में 11 पैसे प्रति लीटर घटा दिए हैं। यह लगातार दूसरा दिन है जब डीजल के भाव कम हुए हैं। इससे पहले सोमवार को भी डीजल के दाम में गिरावट देखने को मिली थी। वहीं, बजट के बाद पहली बार है जब पेट्रोल के भाव कम हुए हैं। मंगलवार को दिल्ली और चेन्नई में पेट्रोल छह पैसे जबकि कोलकाता में तीन पैसे और मुंबई में पांच पैसे प्रति लीटर कम हो गए हैं। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकता, मुंबई और चेन्नई में मंगलवार को पेट्रोल के दाम घटकर क्रमश: 72.90 रुपये, 75.12 रुपये, 78.52 रुपये और 75.70 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। वहीं, चारों महानगरों में डीजल के दाम घटकर क्रमश: 66.49 रुपये, 68.48 रुपये और 69.69 रुपये और 70.23 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं।
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट भाषण के अगले दिन ही पेट्रोल की कीमतों में 2.5 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में 2.3 रुपये प्रति लीटर का इजाफा हो गया था। दरअसल, बजट भाषण में निर्मला सीतारमण ने पेट्रोल और डीजल पर करीब 2 रुपये प्रति लीटर का अतिरिक्त टैक्स लगाने का ऐलान किया। इसमें एक रुपये प्रति लीटर का उत्पाद शुल्क और 1 रुपये प्रति लीटर का सेस यानी उपकर शामिल है। यही वजह है कि तेल के दाम में इतनी बड़ी बढ़ोतरी हुई। एंजेल ब्रोकिंग के एनर्जी व करेंसी रिसर्च मामलों के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता के मुताबिक पेट्रोल और डीजल के दाम में इतनी बड़ी बढ़ोतरी होने से मालभाड़ा व परिवहन की लागत बढ़ जाएगी। इस वजह से वस्तुओं की कीमतों में इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि तेल के दाम बढ़ने से दैनिक जरूरत की वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि होगी।
विपिन/ ईएमएस/ 09 जुलाई 2019