क्षेत्रीय

कपास उत्पादन के सम्बंध में किसानों को जानकारी दी

07/08/2020

खण्डवा (ईएमएस)। गुरूवार को ग्राम जसवाड़ी में किसान श्री नरेन्द्र सिंह मौर्य के खेत में एक कार्यक्रम आयोजित कर किसानों को कपास में गुलाबी डेण्डू छेदक कीट के प्रबंधन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। इस अवसर पर कपास अनुसंधान केन्द्र के प्रमुख सतीश परसाई ने कृषकों को गुलाबी डेण्डू छेदक से सतर्क रहने की सलाह दी। उन्होंने बताया कि गत वर्ष कीट द्वारा विभिन्न कपास उत्पादक जिलों में 30-90 प्रतिशत औसत 60 प्रतिशत तक हानि हुई थी। अत: हमें इस वर्ष फसल में पुष्पन अवस्था से ही सावधान रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कृषकों को अपने खेतों में फेरोमेन प्रपंच स्थापित करने की सलाह दी। प्रति एकड़ तीन प्रपंच फूल अवस्था आरम्भ होने के साथ ही लगावें। यदि औसतन प्रत्येक प्रपंच में आठ या अधिक पंखी आने लगे तो दवा का उपयोग करें।
उप संचालक कृषि श्री आर.एस. गुप्ता ने समेकित व सामयिक प्रबंधन उपाय अपनाने को कहा। उन्होंने फीरोमेन प्रपंच के उपयोग की विधि व फेरोमेन प्रपंच के उपयोग में ली जाने वाली सांवधानियों के बारे में बताया। इस अवसर पर लगभग पचास कृषकों को एक एकड़ क्षेत्र के लिए फेरोमेन प्रपंच का वितरण श्री परसाई, श्री गुप्ता, श्री पाटिल एवं श्री विश्नोई द्वारा किया गया। श्री विश्नोई ने सभी का आभार व्यक्त किया।
प्रवीण/07/08/2020