मनोरंजन

(मुंबई) सबने मस्तियां की है तो उनकी पोल खुल रही है: लकी अली

02/12/2018

मुंबई (ईएमएस)। संगीत की दुनिया में अपने बेहतरीन गानों की बदौलत एक अलग पहचान रखने वाले लकी अली को किसी अन्य परिचय की जरूरत नहीं। उनके गाए गानों में ओ सनम, कभी ऐसा लगता है, अनजानी राहों में, ना तुम जानो ना, हम आ भी जा आदि प्रमुख है। हाल ही में नोएडा में लाइव परफॉर्मेंस देने आए लकी ने मीटू अभियान पर खुलकर अपनी बात कही। खास बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि जब महिलाओं के साथ उत्पीड़न हुआ तो उन्होंने इतने सालों बाद आवाज क्यों उठाई। उन्होंने उस समय अपना मुंह क्यों नहीं खोला। आजकल मीटू अभियान के जरिए अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न पर मुंह खोल रही महिलाओं पर गायक ने कहा कि उन्हें पहले ही बोलते हुए गंदी चीजों को सामने लाना चाहिए था। लकी ने कहा कि अब क्या कर सकते हैं, सब ने मस्तियां की है, तो उनकी पोल खोल रही है। यह काफी हास्यास्पद है कि सब को अभी याद आ रहा है, कि मेरे साथ यह हादसा हुआ या वह हादसा हुआ। उन्होंने कहा कि जब हादसा हुआ, तब किसी का मुंह क्यों नहीं खुला? तब क्यों नहीं बताया? लकी ने कहा कि उन्हें लगता है कि जब गंदे काम होते हैं, तो सामने आ ही जाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जब गलत बात होती है, तो वह कितना भी छिपाने पर भी सामने आ ही जाती है। उन्होंने कहा कि टेक्नोलॉजी चेंज होने से बदलाव आया है, लोग जो रातों में काम करते हैं, उनके दिन रात हो जाते हैं और रात दिन हो जाते हैं, तो पूरा चेंज होते रहता है, सारा सामाज हीं बदल गया और इस तरह की चीजें हो रही हैं।
बता दे कि बचपन से घोड़े पालने के शौकीन यह गायक गायकी के अलावा पेड़- पौधे उगाने और खेती के भी शौकीन है। सोशल मीडिया पर चल रहे ट्रोलिंग के ट्रेंड पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया ट्रोल को हैंडल करना पड़ता है। कभी-कभी लोग मतलब उनके किए रिएक्शन जो होते हैं इमोशनल होते हैं। ट्रोल्स को तो हम लोग उनकी जुबान में ही जवाब दे देते हैं।
हर्षिता/ईएमएस 02 दिसंबर 2018