ट्रेंडिंग

भाजपा इस बार 300 के पार : मोदी

15/05/2019

- कोलकाता हिंसा का संपूर्ण घटनाक्रम
नई दिल्ली (ईएमएस)। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण से पहले बंगाल की सियासत सुलग गई है। कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हुए बवाल के बीच मशहूर शिक्षा शास्त्री ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा टूटने का मुद्दा भी गरमा गया है। तृणमूल कांग्रेस जहां बीजेपी कार्यकर्ताओं पर प्रतिमा तोडऩे का आरोप लगा रही है, वहीं अब अमित शाह ने खुद कुछ तस्वीर जारी कर यह दावा किया है कि विद्यासागर की मूर्ति को तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने तोड़ा है। इस बीच बारासात में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंच के साथ तोडफ़ोड़ हुई है।

इस बार भाजपा 300 के पार : मोदी
पश्चिम बंगाल में भड़की राजनीतिक हिंसा की घटनाओं के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बाशीरहाट में एक जनसभा को संबोधित किया। रैली के दौरान पीएम मोदी के निशाने पर पूरी तरह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रहीं। उन्होंने कहा कि दीदी की बौखलाहट देखकर और यह जनसमर्थन देखकर मैं कह रहा हूं कि बंगाल की मदद से भाजपा इस बार 300 सीट पार कर जाएगी और इसमें बंगाल की जनता की बहुत बड़ी भूमिका होगी। उन्होंने कहा कि आज पूरे बंगाल से आवाज आ रही है कि दीदी की सत्ता जाने वाली है और इसीलिए वह इस तरह बौखलाई हुई हैं।

शाह के रोड शो में हंगामे के बाद योगी का मंच तोड़ा
बंगाल में बोले योगी- ममता की यह आखिरी गलती
बुधवार को जैसे ही खबर आई कि पश्चिम बंगाल में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मंच के साथ तोडफ़ोड़ हुई है तो बताया गया कि रैली रद्द हो सकती है, लेकिन तुरंत बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का भी निर्देश आ गया। शाह ने बंगाल में अपने कार्यकर्ताओं से दो टूक कहा कि चाहे कुछ हो जाए, ये रैलियां रद्द नहीं होंगी। इसके बाद योगी ने रैली की और ममता पर जमकर हमला बोला। योगी ने कहा, यूपी में मैंने पूजा के लिए मुहर्रम के जुलूस का समय बदलवा दिया।

बारासात में जमकर बरसे योगी
बंगाल के बारासात में यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ममता बनर्जी एक झूठ बोलने के लिए कई झूठ बोल रही हैं, ममता की सरकार दंगे भड़का रही है इसकी एक्सपाइरी तारीख निश्चित है। उन्होंने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने अमित शाह के रोड शो में जो हमला किया, इस सरकार की अंतिम ताबूत बनने जा रही है। इनको सिर छुपाने की जगह नहीं मिलेगी। बंगाल रवाना होने से पहले योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर ममता सरकार पर हमला बोला। उन्होंने लिखा कि मैं बंगाल आ रहा हूं, तानाशाहों तक यह संदेश पहुंचे कि राम इस देश के कण-कण में हैं, स्वतंत्रता इस देश की जीवनी-शक्ति है और मैं बंगाल के क्रांतिधर्मी युयुत्सु का आह्वान कर रहा हूं। योगी ने लिखा कि याचना नहीं, अब रण होगा, जीवन जय या कि मरण होगा!

अमित शाह का बड़ा हमला- मूकदर्शक ना बना रहे चुनाव आयोग
लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का रण बंगाल में हिंसक हो गया है। मंगलवार को कोलकाता में हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में जमकर बवाल हुआ, हिंसा हुई और आगजनी भी हुई। इसी मुद्दे पर भाजपा आक्रामक है। दिल्ली में अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और जमकर ममता बनर्जी पर हमला बोला। इतना ही नहीं अमित शाह ने चुनाव आयोग पर भी पक्षपात करने का आरोप लगाया। ममता बनर्जी की सरकार पर हमला करते हुए अमित शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले पंचायत चुनाव में भी टीएमसी वालों ने हिंसा की थी। इस दौरान अमित शाह ने चुनाव आयोग पर भी सवाल खड़े कर दिए, उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग मूकदर्शक बनकर बैठा है और टीएमसी हिंसा करती जा रही है। अगर ऐसा ही चुनाव होता रहा तो चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

विद्यासागर की मूर्ति टीएमसी के लोगों ने ही तोड़ी
शाह ने एक तस्वीर दिखाते हुए कहा कि इस तस्वीर में दिखाई दे रहा है कॉलेज का गेट बंद है और बीजेपी कार्यकर्ता बाहर थे. गेट बंद है, टूटा नहीं है. जहां प्रतिमा रखी थी, वो दो कमरों के अंदर है. शाम साढ़े सात बजे की यह घटना है. कॉलेज बंद हो चुका था, फिर अंदर जाकर किसने दरवाजे खोले और मूर्ति तोड़ी. कमरे का ताला भी नहीं टूटा है. फिर कमरे की किसने दी. ये सारे सबूत बताते हैं कि प्रतिमा को टीएमसी के गुंडों ने तोड़ा है.

हिंसा के विरोध में जंतर-मंतर पर भाजपा का मौन प्रदर्शन
बंगाल में चुनाव प्रचार से लेकर मतदान तक लगातार हिंसक घटनाओं को लेकर दिल्ली में भाजपा ने जंतर मंतर पर मौन विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली के जंतर-मंतर पर भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन पर बैठे। वे पश्चिम बंगाल में भाजपा के खिलाफ हो रही हिंसक घटनाओं से नाराज हैं, और मंगलवार को बंगाल की राजधानी कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा का विरोध कर रहे हैं। जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन के लिए भाजपा नेता और कार्यकर्ता काले रंग के पोस्टर लेकर बैठे थे, जिसमें सफेद अक्षरों में बंगाल को बचाने के लिए भाजपा की सरकार चुनने के नारे लिखे हुए थे। पोस्टरों पर अंग्रेजी में लिखा हुआ था सेव बंगाल-सेव डेमोक्रेसी। कई पोस्टरों में हिंदी में भी यही नारा लिखा हुआ था बंगाल बचाओ-लोकतंत्र बचाओ।भाजपा का यह विरोध बिल्कुत शांतिपूर्ण प्रदर्शन रहा। इस दौरान भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अपने मुंह पर उंगली रख कर मौन का संकेत दिया और केवल पोस्टरों के माध्यम से अपनी बात रखी।
एसएस/ईएमएस 15 मई 2019