क्षेत्रीय

दूषित पानी के सेवन से 1 दर्जन लोग हुये बीमार

07/11/2019

इलाज के लिये अस्पताल में हुये भर्ती
19 करोड खर्च के बाद भी गंदा पानी पीने की विवशता
कोतमा (ईएमएस)। नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड 10 एवं 11 मे दूषित पानी के सेवन कर उल्टी दस्त से पीडित मरीजो को ईलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोतमा मे 6 एवं 7 नवम्बर को भर्ती कराया गया। भर्ती हुये 8 लोगो मे सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। बीमारी का कारण नपा के द्वारा सप्लाई किये जा रहे दूषित पेयजल का सेवन बताया जा रहा है। अस्पताल मे मीनू भरिया, भीमसेन चौधरी, धन्नु पनिका सभी निवासी वार्ड 10, नीलू सिंह 19 वर्ष, गोविन्द सिंह, सुरजन बाई, ओमकार सभी निवासी गोविन्दा गॉव वार्ड11 के के भर्ती है। मरीजो के परिजनो ने बताया कि अभी भी गॉव मे कई घरो मे उल्टी दस्त से लोग पीडित है जो निजी उपचार करा रहे है। हमारे वार्डो मे लम्बे समय से गंदे पानी की सप्लाई जारी है।
वार्ड 10 निवासी रामसोनी ने बताया कि मेरे पुत्र भरत सोनी 11 वर्ष जो नगर पालिका के द्वारा सप्लाई किये जा रहे दूषित एंव काला पानी के सेवन से बुघवार को स्कूल मे दस्त से पीडित हो गया जिसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को देने पर टीम के द्वारा वार्डो को निरीक्षण कर बीमारी का कारण दूषित पानी के सेवन को बताया।
कालरी का गंदा पानी हो रहा सप्लाई
वार्डवासियो ने बताया कि कालरी के द्वारा निकले ओवरलो पानी को कालेज के सामने निर्मित टंकी मे भरकर वार्ड 8 से 11 के वार्डो मे सप्लाई किया जाता है। टंकी की नियमित सफाई ना होने से भी टंकी मे सिल्ट एंव कीट की परत जमा रहती है।
इनका कहना है-
नगरीय क्षेत्र के लगभग 10 लोग दूषित पानी के सेवन से उल्टी, दस्त का शिकार होकर अस्पताल मे भर्ती है। जिनका उपचार किया जा रहा है, सभी की हालत खतरे से बाहर है।
-दीपारानी मरांडी
डा. स्वास्थ्य केन्द्र कोतमा

मुझे जानकारी नही है, तत्काल पता करवाता हू। अगर दूषित पानी सप्लाई हो रहा है तो व्यवस्था मे सुधार करवाई जायेगी।
-शैलेन्द्र कुमार ओझा
नगर पालिका प्रभारी कोतमा
प्रवीण/07/11/2019