ट्रेंडिंग

हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ और नेगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है योग : मोदी

21/06/2021

नई दिल्ली (ईएमएस)। 7वें अंतराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर यहां आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा योग हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ और नेगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है। यह हमें अवसाद से उमंग और प्रमाद से प्रसाद तक ले जाता है। इस अवसर पर पीएम मोदी ने दुनिया की विभिन्न भाषाओं में योग प्रशिक्षण देने के लिए एम-योग ऐप लांच करने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा आज जब पूरा विश्व कोरोना महामारी का मुकाबला कर रहा है, तब योग उम्मीद की एक किरण के रूप में सामने आया है।
पीएम मोदी ने कहा कि पिछले दो सालों में भारत समेत दुनिया के अन्य देशों में भले ही योग का कोई बड़ा सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित न हुआ हो लेकिन योग दिवस के प्रति उत्साह जरा भी कम नहीं हुआ है। पीएम मोदी ने कहा जब कोरोना के अदृश्य वायरस ने दुनिया में दस्तक थी, तब कोई भी देश साधनों से, सामर्थ्य से और मानसिक अवस्था से इससे मुकाबले के लिए तैयार नहीं था। ऐसे समय में योग, लोगों का आत्मबल बढ़ाने का बड़ा साधन बना। योग ने लोगों में भरोसा जगाया कि हम महामारी से लड़ सकते हैं। कोरोना के बावजूद इस बार की योग दिवस की थीम 'योग फॉर वेलनेस' ने करोड़ो लोगों में योग के प्रति उत्साह को और बढ़ाया है।
पीएम मोदी ने कहा कि मैं आज योग दिवस पर यह कामना करता हूं कि हर देश हर समाज और हर व्यक्ति स्वस्थ हो और सब एकसाथ मिलकर एक दूसरे की ताकत बने। पीएम मोदी ने कहा कि आज चिकित्सा विज्ञान भी उपचार से साथ-साथ हीलिंग पर भी बल देता है और योग हीलिंग प्रॉसेस में उपकारक है। मुझे संतोष है कि आज योग के इस पहलू पर दुनियाभर के विशेषज्ञ अनेक प्रकार के साइंटिफिक रिसर्च भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा भारत के ऋषियों ने, भारत ने जब भी स्वास्थ्य की बात की, तो इसका मतलब केवल शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं रहा है। इसीलिए, योग में फ़िज़िकल हेल्थ के साथ साथ मेंटल हेल्थ पर भी ज़ोर दिया गया है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा जब भारत ने यूनाइटेड नेशंस में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा, तो उसके पीछे यही भावना थी कि यह योग विज्ञान पूरे विश्व के लिए सहज सुलभ हो। आज इस दिशा में भारत ने यूएन, डब्ल्यूएचओ के साथ मिलकर एक और महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अब विश्व को, एम-योगा ऐप की शक्ति मिलने जा रही है। इस ऐप में कॉमन योग प्रोटोकॉल के आधार पर योग प्रशिक्षण के कई विडियोज दुनिया की अलग अलग भाषाओं में उपलब्ध होंगे।

दुनिया को भारत का बहुमूल्य उपहार है योग :कोविंद
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देशवासियों को बधाई देते हुए कहा कि योग कोविड-19 के दौरान बेहद मददगार साबित हो सकता है। कोविंद ने कहा योग भारत द्वारा दुनिया को दिए गए सबसे महान उपहारों में से एक है। हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पूरे उत्साह के साथ मनाया जाता है। राष्ट्रपति कोविंद ने योग करते हुए अपनी तस्वीर ट्विटर पर साझा की और ट्वीट किया, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की सभी को बधाई। हजारों वर्षों से लाखों-करोड़ों लोगों को स्वस्थ एवं खुशहाल जीवन का वरदान और शरीर एवं मन के संयोजन का साधन, योग के रूप में हमारे ऋषियों ने विश्व को दिया है। मानवता को यह भारत की अनुपम देन है। योग, कोविड-19 के संदर्भ में भी सहायक हो सकता है।

देश और लोगों के लिए लाभकारी है योग : नायडू
उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने लोगों से योग को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाने की सोमवार को अपील की। नायडू ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए कहा योग हमारी न केवल शारीरिक और मानसिक रूप से मदद करता है, बल्कि यह समाज की सेहत की बेहतरी के लिए भी अच्छा है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि यह लोगों और देश दोनों के लिए लाभकारी है। इससे पहले, नायडू ने यहां उपराष्ट्रपति आवास के मैदान में अपनी पत्नी उषम्मा के साथ योग किया। सातवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस सोमवार को मनाया जा रहा है।
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा हरियाणा में हमने योग को आगे बढ़ाने के लिए योग आयोग का गठन किया है। उन्होंने कहा कि गांव-गांव में योग की जानकारी पहुंचे और लोग बड़े पैमाने पर इसे अपनाएं इसके लिए राज्य के 6,700 गांवों में से हमने 1000 गांवों में योग और व्यायामशालाएं स्थापित करने का निर्णय लिया है। इसमें से लगभग 550 गांवों में ये योगशालाएं स्थापित हो चुकी हैं, शेष पर काम चल रहा है।
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने दिल्ली के महाराजा अग्रसेन पार्क में योग किया। इस दौरान उन्होंने कहा हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है स्वास्थ्य। स्वास्थ्य की रक्षा योग के माध्यम से अच्छी तरह की जा सकती है, यह बात कोरोना काल में साबित हो चुकी है।
योग दिवस के अवसर पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पटना में योग किया। उन्होंने कहा योग भारतीय संस्कृति की एक बहुत बड़ी धरोहर है। प्रधानमंत्री ने इस धरोहर को आज दुनिया के सामने इतने प्रभावी रूप से योग दिवस के रूप में प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में इसकी उपयोगिता और योगदान बहुत अनुकरणीय है।
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने यूपी के रामपुर में आयोजित योग कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि योग दुनिया के लोगों की सेहत का एक मेड इन इंडिया नायाब गिफ्ट है। इसने दुनिया की सेहत और सलामती को बहुत मजबूती दी है। कोरोना काल में जहां एक तरफ मेडिसिन ने काम किया तो दूसरी तरफ मेडिटेशन ने भी वही काम किया।
केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने योग दिवस पर योग को महामारी के समय में दुनिया के लिए वरदान बताया। उन्होंने कहा कि महामारी के समय में योग ने हमारी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम किया है। लोगों को इससे न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक स्वास्थ्य सुधारने में भी मदद मिली है।

आईटीबीपी जवानों ने 18000 फुट पर किया योग
7वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के पूंछ इलाके के नागरिकों के साथ योग किया। इस कार्यक्रम में सेना के जवानों के अलवा स्थानीय नागरिकों और बच्चों ने भी बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। लद्दाख में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) जवानों ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 18,000 फीट की ऊंचाई पर योग किया।
अनिरुद्ध, ईएमएस, 21 जून 2021