मनोरंजन

रोल करने से इंकार करना पड रहा पंकज त्रिपाठी को

12/06/2019

-एक समय काम का था पंकज के पास अकाल
मुंबई (ईएमएस)। बालीवुड में एक दशक से ज्यादा समय तक छोटे-छोटे किरदारों को निभा कर, किसी तरह अपना खर्चा पूरा करने वाले पंकज त्रिपाठी आज हर बड़े निर्माता-निर्देशक की मांग बन गए हैं। पंकज बताते हैं, 'एक समय ऐसा था, जब काम का अकाल था, लेकिन आज सीमित समय में ढेरों कहानियों को सुनने का समय निकाल पाना बहुत मुश्किल हो गया है। अब लोगों को फिल्म न कर पाने के लिए इनकार करना पड़ता है। कई लोगों को मेरा इस तरह इनकार करना पचता भी नहीं है, वे लोग सोचते हैं कि छोटे-छोटे रोल करने वाला पंकज त्रिपाठी हमारी फिल्म में काम करने से इनकार कैसे कर सकता है, वह यह समझना ही नहीं चाहते कि मेरे पास वक्त नहीं है। वैसे मैं किसी की फिल्म में काम न कर पाने के लिए कोई बहाना नहीं बनाता, मुझे बहानेबाजी आती भी नहीं है। मैं सीधी और सच बात करता हूं और कहता हूं यह रोल मुझे उतना उत्साहित नहीं कर रहा है।यहां बता दें कि आने वाले दिनों में पंकज त्रिपाठी, इरफान खान के साथ फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' में, रितिक रोशन के साथ 'सुपर 30' में, कंगना रनौत के साथ फिल्म 'पंगा' में, जाह्नवी कपूर के साथ 'कारगिल गर्ल' में और अमेरिकन फिल्म 'ढाका' में मनोज बाजपेई, रणदीप हुड्डा और कई अमेरिकन कलाकारों से साथ नजर आएंगे। पंकज आगे कहते हैं, 'मुझे अब इस समय ऐक्टिंग करने के लिए पैसे नहीं चाहिए, पैसे अब अपने आप ही मिल जाते हैं, अब मुझे ऐक्टिंग करने के लिए ऐसी कहानी और किरदार चाहिए, जिसकी शूटिंग से पहले रात भर डरता रहूं। सोचता रहूं कि यह रोल कैसे करूंगा। कुछ किरदार ऐसे मिल जाते हैं, जिनको करने से पहले रात की नींद उड़ जाती है। कुछ रोल डराते हैं, लगता है कि इसको करूंगा कैसे। कई बार तीन-से चार दिन की शूटिंग के बाद पता चलता है कि यह किरदार किस तरह का है। छोटे बच्चों के साथ किसी भी तरह की मार-पीट और प्रताड़ना के सीन करने से साफ इनकार करने वाले पंकज कहते हैं, 'छोटी बच्चियों को गाली देना हो, उन्हें मारना-पीटना हो या फिर उन्हें प्रताड़ित करना हो, ऐसे सीन करना मेरे लिए सबसे मुश्किल हैं। मुझे लगता है ऐसे सीन मैं कभी नहीं करूंगा। मैंने कई बार ऐसे कई काम को करने से इनकार भी किया है। जब भी कोई ऐसा सीन आता है, जो मुझे सहज नहीं लगता, तब मैं यह सोचता हूं कि कहानी में इस सीन की क्या और कितनी जरूरत है। अगर ऐसे सीन जरूरी भी होते हैं तो बतौर ऐक्टर मैं ऐसे सीन के लिए अपने दरवाजे बंद कर देता हूं।'
सुदामा/ईएमएस 12 जून 2019