राज्य समाचार

ढाई मुख्यमंत्री चला रहे प्रदेश में सरकार, कब टपक जाए ठिकाना नहीं- शिवराज

14/03/2019

विजय संकल्प अभियान के अन्तर्गत पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने ली सभा
अशोकनगर (ईएमएस)। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश की सरकार को ढाई मुख्यमंत्री चला रहे हैं। यह सरकार कब टपक जाए इसका कोई ठिकाना नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने यह बात गुरुवार को स्टेशन रोड़ स्थित तुलसी पार्क पर विजय संकल्प यात्रा के दौरान आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कही।
शहर के विजया राजे चौराहे से इस विजय संकल्प यात्रा का प्रवेश करते ही लोगों द्वारा अपने पूर्व मुख्यमंत्री का अभूतपूर्व स्वागत कर उन्हें अनेकों स्थानों पर फलों से तौला गया और पुष्प वर्षा की गई। सभा को संबोधित करते हुए श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि में अशोकनगर देर से आया हूं पर दूरस्थ आया हूं। जो विधानसभा में चूक हुई है वह लोकसभा चुनाव में नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया में भारत की विशिष्टि पहचान दी है, मोदी जी के नेतृत्व में नए भारत का उदय हो रहा है। गरीबों के कल्याण के लिए और आतंकवाद के सफाए के लिए मोदी जी ने ऐतिहासिक निर्णय लेकर प्रभावी कदम उठाए हैं। इससे पूर्व कांग्रेस की सरकारें भ्रष्टाचार में डूबी हुईं थीं, कहीं 2जी, 3जी, जीजा जी घोटाले सुनाई पड़ते थे। श्री सिंह ने कहा कि एक तरफ मोदी जी के नेतृत्व में आतंकवाद के सफाए के लिए पाकिस्तान के विरुद्ध हमारे जवान लड़ाई लड़ते हैं, तो दूसरी तरफ कांग्रेस के नेता दिग्विजय सिंह पुलवामा हमले को दुर्घटना बताकर हमारे सैनिकों का अपमान करते हैं। श्री सिंह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पर कटाक्ष कर कहा कि सभी तरह से कमलनाथ सरकार विफल साबित हुई है। उन्होंने कहा कि सतना में दो मासूम बच्चों की हत्या होना और प्रदेश भर में अराजकता का माहौल होना दर्शाता है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बल्कि डकैतों की सरकार काम कर रही है। कहा कि कांग्रेस के सफेद पोस नेता ये काम कर रहे हैं। श्री शिवराज सिंह ने कहा कि मेरे कार्यकाल में मैंने संकल्प लिया था कि या प्रदेश में मैं रहूंगा या डाकू रहेंगे, मैंने पूरे डाकुओं का सफाया कर दिया था। श्री चौहान ने कहा कि इस सरकार को ढाई मुख्यमंत्री चला रहे हैं। एक जो सामने है, दूसरे जो पीछे है और आज तक सेना का अपमान कर रहे हैं और आधे मुख्यमंत्री वो हैं जिन्हें प्रदेश से उत्तरप्रदेश का प्रभार देकर निकाला दे दिया गया है। उन्होने ने कहा कि चुनाव आयोग जिस दिन लोकसभा चुनाव की घोषणा कर रहा था। उस दिन घोषणा शाम 5 बजे होना थी, कमलनाथ प्रार्थना कर रहे थे कि हे भगवान, आचार संहिता लगे तो जान छूटे, रोज कर्जा माफ। चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ही 2 बजे मोबाइल पर मैसेज आ गए। आचार संहिता लग गई है, अब आचार संहिता के बाद कर्जा माफ होगा। सीएम टाइम काटू अभियान चला रहे हैं। नीले, लाल-पीले रंग के फार्म भरवा रहे थे कि जैसे तैसे लोकसभा चुनाव आ जाए और जान छूटे। कर्जा माफ करना है, बहुत साधारण रास्ता है। बैंकों में पैसा जमा कर दो। बैंक किसानों से कह दें कि तुम्हारा पैसा माफ। श्री चौहान ने कहा कि विधानसभा चुनाव में भले ही चूक हो गयी हो, लेकिन लोकसभा में हमें मोदी जी को जिताना है। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह एवं पूर्व जनसम्पर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा भी आए हुए थे। कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी, पूर्व मण्डी अध्यक्ष अजय यादव, जयमण्डल यादव, डॉ. हरवीर सिंह रघुवंशी सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
युवाओं को बेवकूफ बना रही सरकार:
कमलनाथ ने पूरे प्रदेश को बेवकूफ बनाने का काम किया है, न तो कर्ज माफ हुआ युवाओं के साथ भी छलावा करते हुए उन्हें जानवर चराने और बाजा बजाने की ट्रेनिंगें दी जा रहीं हैं। उन्होंने कमलनाथ एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर गलत तरीके से किसी के विरुद्ध झूठे मुकदमे दर्ज कराए गए तो मुझे लड़ाई लडऩे सडक़ों पर उतरना पड़े तो उतरूंगा। उन्होंने लोगों से संकल्प लेते हुए कहा कि अब लोकसभा चुनाव में किसी प्रकार की गलती नहीं करना है, मोदी जी के नेतृत्व में गौरवशाली सरकार बनाने और इस क्षेत्र से गुलामी से मुक्ति के लिए अपना योगदान दें।
लंगड़ी है प्रदेश सरकार:
श्री चौहान ने कहा कि हमारी सरकार ने निर्णय लिया था कि प्रदेश में नई शराब की दुकान नहीं खोलेंगे और पुरानी दुकानों को धीरे धीरे बंदकर नशामुक्त प्रदेश बनायेंगे। जबकि कांग्रेस सरकार ने निर्णय लिया कि अब देशी शराब की दुकानों पर विदेशी शराब भी बेची जायेगी। कांग्रेस का यह निर्णय उनकी कार्य संस्कृति को दर्शाता है। कुछ दिनों पहले उनके मंत्री कन्यादान योजना की राशि का उपयोग देशी-विदेशी शराब के लिए बता रहे थे। उन्हीं के एक मंत्री गरीबों को मिलने वाली एक हजार रूपए पेंशन का उपयोग बीड़ी तंबाकू पीने में करने के लिए कहते हैं। श्री चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कांग्रेस की लंगड़ी सरकार है, जो सपा, बसपा और निर्दलीयों की बैसाखी पर खड़ी है। यह सरकार ज्यादा दिन चलने वाली नहीं है।
फिर लौट आया बंटाढार युग:
सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि 15 वर्ष पूर्व भारतीय जनता पार्टी ने सत्ता संभालते ही चंबल क्षेत्र और पूरे प्रदेश से डकैतों का सफाया कर दिया था। पुलिस यही थी, प्रशासन यही था, लेकिन हमारी नीयत साफ थी कि मध्यप्रदेश की जनता भय और आतंक के माहौल से मुक्त रहे। लेकिन कांग्रेस की सरकार आते ही डकैतों का राज फिर लौट आया है। हत्या, लूट और अपहरण की घटनाएं बढ़ रही हैं। सतना में 2 मासूमों का अपहरण और उनकी लाशें मिलना, उसके बाद इंदौर, ग्वालियर जैसे अनेक शहरों में लगातार अपहरण की घटनाएं सामने आ रही हैं। यह इस बात का प्रमाण है कि बंटाढार युग फिर लौट आया है।
गरीबों से कफन तक छीन लिया कांग्रेस सरकार ने:
श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव के पहले कई वादे किए थे, लेकिन बीते ढाई माह में एक भी विकास कार्य नहीं हुआ। सरकार ने प्रदेश में ट्रांसफर उद्योग शुरू कर दिया, विकास के काम ठप हो गए। कांग्रेस सरकार में हर चीज बिकाउ हो गयी है, हर चीज के रेट तय है। उन्होंने कहा कि चारों तरफ भ्रष्टाचार से जनता त्राहिमाम कर रही है। इस निर्दयी सरकार ने संबल योजना का लाभ बंद कर दिया है, जिसमें हमने कफन दफन के लिए गरीबों को 5 हजार रूपए देने का काम किया था। लेकिन इस सरकार ने गरीबों से कफन तक छीन लिया। उन्होंने कहा कि भले ही मैं मुख्यमंत्री नहीं रहा, लेकिन जनता के लिए सडक़ों पर उतरूंगा, जनता की लड़ाई लड़ूंगा।
साढ़े 13 साल बाद आई याद:
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान साढ़े 13 साल बाद जिले के दौरे पर आए। इससे पहले मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए वह एक भी बार शहर के दौरे पर नहीं आए। वहीं लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद अशोकनगर की याद आई। जहां आम सभा को संबोधित करते हुए श्री चौहान ने कहा कि बहुत दिन से आने का सोच रहा था लेकिन नहीं आ पाया। उन्होने कहा कि देर से आया लेकिन दुरुस्त आया।
दो लाख दूंगा प्रमाणपत्र दिखाओ:
पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि राहुल गांधी जी ने कहा था कि 10 दिन में कर्जा माफ नहीं हुआ तो मुख्यमंत्री बदल देगें। लेकिन आज 40 दिन से ऊपर हो चुके हैं और उनके द्वारा मुख्यमंत्री नहीं बदला गया है। इसलिए अब मुख्यमंत्री को हमें बदलना है। उन्होने कहा कि कमलनाथ सरकार में किसान का 2 लाख का कर्ज माफ नहीं हुआ है अगर किसी भी किसान का कर्ज माफ हुआ है तो वह हमको प्रमाण पत्र बताएं मैं अपनी तरफ से 2 लाख और उनको दूंगा। वहीं जब सभा खत्म होते ही कांग्रेस कार्यकर्ता प्रमाण पत्र लेकर पहुंचे तो नरोत्तम मिश्रा और राकेश सिंह ने बात को टाल दिया और कोई जवाब नहीं दिया।
भारत को दुनिया का नेता बनाएगी मोदी सरकार:
श्री चौहान ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार गांव-गांव में सडक़ बनाने का काम कर रही है। साथ ही विश्व में देश की साख बढ़े, भव्य भारत का निर्माण हो, देश के हर नौजवान के हाथ में रोजगार हो, देश में माताएं,बहनें सम्मान के साथ जीवन यापन कर सकें इसके लिए प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत को दुनिया का नेतृत्व करने वाला राष्ट्र बनाने का लगातार प्रयास कर रहे हैं।
नई रीति-नीति के प्रधानमंत्री हैं मोदी जी:
श्री चौहान ने कहा कि जब उरी में आतंकी हमला हुआ, तो पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकियों को खत्म किया गया। जब पुलवामा में आतंकी हमला हुआ तो एयर स्ट्राइक करके सभी आतंकियों को जहन्नुम पहुंचाने का काम हमारी सेना ने किया। यह नरेंद्र मोदी जी की सरकार की इच्छा शक्ति है, जो सेना के कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। श्री तोमर ने कहा कि आप सभी लोगों ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लोकसभा में आंख मारते हुए देखा है। क्या देश ऐसे नैन मटकाने वाले के हाथों में सुरक्षित रह सकता है? उन्होंने कहा कि अगर देश को बचाना है, तो मोदी जी को देश का प्रधानमंत्री बनाना पड़ेगा।
कोई जमानत पर, किसी की चल रही जांच:
पूर्व मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मैं कांग्रेस के लोगों से पूछता हूं, आप के नेता कौन हैं? तो जवाब मिलता है मां और बेटा। तीसरा कोई है तो बेटी। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर दर्ज हुए नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया गांधी और राहुल गांधी जमानत पर हैं। प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ राजस्थान से लेकर हरियाणा तक जाँचें चल रही हैं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन का कोई नेता 420 के केस में अंदर है, कोई सीबीआई के या इनकम टैक्स के घेरे में है। किसी पर आय से अधिक संपत्ति के केस चल रहे हैं। यह सभी लोग देश को आगे बढ़ाने के लिए इक_ा नहीं हुए, बल्कि इन्हें डर है कि अगर मोदी आ गया तो भ्रष्टाचारियों को जेल की हवा खानी पड़ेगी। इसीलिए सारे भ्रष्टाचारियों ने एक होकर महाठगबंधन बनाया है।
ईएमएस/15/03/2019