क्षेत्रीय

नर्मदा नदी के सभी तटो पर माँ से की गई मनुहार

10/06/2019

-उपकरण एवं विभिन्न प्रजाति के बीजो की की गई पूजा
-कमिश्नर श्री मिश्रा ने रंढाल एवं हासलपुर में की माँ से मनुहार
होशंगाबाद (ईएमएस)। नर्मदा पवित्र सर्वदा अभियान के अंतर्गत नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर आरके मिश्रा के नेतृत्व एवं मार्ग दर्शन में होशंगाबाद जिले में माँ नर्मदा नदी के सभी तट क्षेत्र के रिपेरियन जोन में बीज रोपण एवं पौध रोपण का कार्यक्रम गत वर्ष सफलता पूर्वक किया गया था। इसी कड़ी में सोमवार को नर्मदा नदी के सभी तटो पर ग्रामीणद जनो, नर्मदा परिवार के मुखिया एवं सदस्यों, नोडल अधिकारियों, प्रस्फुटन समिति के सदस्यों, समाज सेवियों, स्वयंसेवी संगठनो के प्रतिनिधियों , जनप्रतिनिधियों, बीएसडब्लू के छात्रो एवं महिलाओं व बच्चो तथा अधिकारियों एवं कर्मचारियो ने नर्मदा नदी के सभी तटो पर एकत्रित होकर माँ से मनुहार की। सभी लोगो ने विधि विधान से अपने उपकरणो जैसे कुदाली, गैंती, फावड़ा एवं विभिन्न प्रकार की प्रजातियों के बीजो की पूजा की और माँ नर्मदा से मनुहार की तथा आशीर्वाद मांगा की आगामी 13 जून को नदी के सभी तटो के रिपेरियन जोन में बीज रोपण का कार्यक्रम सफल हो। उल्लेखनीय है कि नर्मदा पवित्र सर्वदा अभियान के अंतर्गत नर्मदा के तट क्षेत्र में 180 किलोमीटर की लंबाई में एवं 100 मीटर की चौड़ाई में घास, झाड़ी, बेला, शाक, वनस्पति पौधो का रोपण जन सहयोग से विगत दो वर्ष से प्रारंभ किया गया है। आज स्वयं कमिश्नर आरके मिश्रा ने होशंगाबाद विकासखंड के ग्राम रंढाल एवं हासलपुर पहुँचकर माँ नर्मदा से मनुहार की। कमिश्नर ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच माँ नर्मदा से बीज रोपण कार्यक्रम एवं पौध रोपण कार्यक्रम के लिए आशीर्वाद मांगा। उन्होंने तट पर भगवान शंकर की विधिविधान से पूजा अर्चना भी की।
इस अवसर पर विभिन्न तटो पर ग्रामीणों, आमजनो ने माँ नर्मदा के गीतो से सभी को भावविभोर कर दिया। सभी व्यक्ति जय हो मैया नर्मदे पार करो मैया के शंखनाद के साथ माँ से मनुहार करने के लिए तट की ओर गये। सुमधुर भजनो के बीच माँ से मनुहार कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। पूरे विधि विधान से माँ से मनुहार की गई और आगामी कार्यक्रमो के लिए माँ से आशीर्वाद और आज्ञा मांगी गई। इस अवसर पर कमिश्नर श्री मिश्रा ने कहा कि माँ से मनुहार कार्यक्रम नया नही है। यह कार्यक्रम पिछले दो वर्षो से चल रहा है। पूर्व कमिश्नर श्री उमाकांत उमराव ने इस कार्यक्रम का प्लॉन बनाया था। यह अभियान हम सभी के लिए है। यदि नदी के तट हरे भरे रहेंगे तो पर्यावरण एवं आसपास का वातावरण स्वच्छ रहेगा। अभी हम जो बढ़ा हुआ तापमान देख रहे हैं पौधरौपण न करने की वजह से हैं। यदि हम वृहद स्तर पर पौध रौपण करेंगे तो तापमान में कमी आयेगी। जनजीवन अनुकूल होगा। वृक्ष के नीचे बैठकर मनुष्य शीतलता का अनुभव करता है। अत: पौधरौपण करना आवश्यक है। कमिश्नर ने कहा कि आज हम देख रहे है कि अच्छी फसल के लिए जल का होना आवश्यक है और जल के लिए पौध रौपण करना आवश्यक है। हम सब बिना पानी के जीवित नही रह सकते हैं। आज माँ नर्मदा की 100 से अधिक सहायक नदियो में पानी नही है वे सूख गई हैं। यही स्थिति रही तो आने वाले 6 से 7 वर्षो में माँ नर्मदा भी सूख जाएगी। कमिश्नर ने कहा कि जब पानी ही नहीं बचेगा तो कुछ भी नही बचेगा। उन्होंने उपस्थित लोगो को भरोसा दिलाया की हम हार नही मानेंगे और प्रति वर्ष बीज रोपण एवं पौध रोपण का कार्य करते रहेंगे, आज नही तो कल हमारा अभियान सफल होगा। आज स्थिति खराब है यदि हम आज सचेत नही हुए तो आने वाली पीढ़ी हमे क्षमा नही करेगी। श्री मिश्रा ने कहा कि गत वर्षो में माँ नर्मदा में गर्मियो में भी इतना पानी रहता था कि उसे नाव से पार करना पड़ता था आज स्थिति यह कि हम इसे पैदल पार कर लेते हैं। कमिश्नर ने सभी लोगो को संकल्प दिलाया कि हम हर संभव प्रयास कर माँ नर्मदा को पुराने वैभव में लायेंगे और माँ नर्मदा को कभी भी विलुप्त नही होने देंगे। माँ से मनुहार कार्यक्रम में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत नमिता बघेल, पीडी आत्मा एमएल दिलवरिया सहित बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थे।

-विभिन्न तटो पर की गई माँ से मनुहार
आज आयोजित माँ से मनुहार कार्यक्रम में नर्मदा नदी के विभिन्न तटों पर ग्रामीणजनों ने एकत्रित होकर माँ नर्मदा की पूजा अर्चना कर माँ नर्मदा के पुराने वैभव को वापस लाने का संकल्प लिया। सोहागपुर के ग्राम माछा में ग्रामीणों ने रीठा, आम गोही, ईमली, बबूल, कंजी, बहेड़ा, बैर, निबोली, अरंडी आदि विभिन्न प्रकार के बीजो एवं औजारो का पूजन किया। बाबई के नसीराबाद, सोहागपुर के भटगाँव, मारागाँव, कजली, ईशरपुर, उमरिया घाट, सुरेला किशोर, पामली, बीकोर, सहलबाड़ा, नानपा, भिलाड़ियाखुर्द, कोंडरबाड़ा, ग्वाड़ी, आंवली घाट, रामगढ़, लुचगाँव, बनखेड़ी, बांद्राभान, सांडिया, अजेरा, आयपा, घोघरा, गजनई, टिगरिया, घुड़ला में ग्रामीजनो ने बड़ी संख्या में उपस्थित होकर माँ से मनुहार की।
प्रवीण/10/06/2019