क्षेत्रीय

पहले दुष्कर्म, बाद में गला घोटकर की हत्या

18/01/2021

पुलिस की पांच टीम कर रही जांच
बाराबंकी (ईएमएस)। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ की सरकार में नित्य नये नये कारनामों का अनावरण हो रहा है। अपराधिक कृत्यों पर विराम बिलकुल नहीं लग रहा। हर बार दलित ही शिकार क्यों बनाया जा रहा, यह अपने आप में एक बड़ा सवाल है। शासन-प्रशासन के खिलाफ लोगों में खाशा आक्रोश है। अवाम में जनचर्चा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शिथिल कार्यशैली से मातहत अफसर बेलगाम हैं, जिससे अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। हाथरस काण्ड के बाद अब बीते रविवार की रात जनपद के थाना जैदपुर में संदिग्ध अवस्था में युवती का शव बरामद होने से वर्तमान सरकार आमजन व विपक्ष के निशाने पर है।
सूबे की राजधानी लखनऊ से सटा जनपद बाराबंकी में बीती रात हुई दलित युवती की हत्या और दुष्कर्म के मामले में पोस्टमोर्टम करीब 12 बजे ही शुरू हो गया था। संवेदनशील मामले में जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक व आईजी रेंज की मौजूदगी में डॉक्टरों का पैनल बनाकर वीडियोग्राफी के साथ पोस्टमोर्टम करवाया गया था, गंभीर घटना में सियासत ने अपना रंग पकड़ लिया। तमाम विपक्षी दल कृत्य की घोर निंदा करते हुए कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। घटना से आमजन भी काफी आहत है। जिला मुख्यालय स्थत पोस्टमोर्टम हाउस में कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल ने पहुँच कर निष्पक्ष जांच कराये जाने की मांग की। पूर्व सांसद डॉ.पी.एल.पुनिया समेत सैकड़ो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पीड़ित दलित युवती के साथ इंसाफ की मांग की है। डॉ. पुनिया ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा प्रदेश में जंगलराज कायम है। योगी सरकार में अपराध की बाढ़ आ गयी है। सपा के प्रतिनिधि मंडल ने भी पीड़ित परिवार को सरकार से 50 लाख धनराशि मुआवजा व एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी की मांग की है। सपा प्रतिनिधि मंडल में शामिल पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप ने प्रदेश की कानून व्यवस्था की घोर भर्त्सना की। प्रतिनिधि मण्डल द्वारा योगी आदित्यनाथ द्वारा निष्पक्षतापूर्ण सरकार नहीं चलाये जाने का आरोप लगाया गया। पीएम हाउस पहुंच आई.जी रेंज डॉ.संजीव गुप्ता ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि युवती का शव जैदपुर थाना क्षेत्र के बीवीपुर गांव स्थित खेत मे मृत अवस्था मे पाया गया था। पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घटना को बेहद गंभीरता से लिया जा रहा है। दो आईपीसी में मुकदमा दर्ज किया है। जांच की जा रही है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर शख्त कार्रवाई की जायेगी। पुलिस ने पूछताछ के लिए कुछ लोगो को हिरासत में लिया है। डॉ.संजी ने बताया कि पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पांच टीमें लगायी गई हैं। घटना का जल्द अनावरण किया जाएगा।
गौरतलब है कि मामला संगीन होने के चलते पुलिस ने भी जल्दी-जल्दी कराते हुए गांव में अंतिम संस्कार करीब 4:10 पर कर दिया गया था, फिलहाल अंतिम संस्कार किसी भी प्रकार की कोई बाधा उत्पन्न नहीं हुई वहीं मृतका की मां का कहना है कि इस पूरे मामले की जांच होते हुए कार्यवाही की जाए। दलित युवती का शव मिलने की जानकारी होने पर पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल की। प्रेस प्रतिनिधियों से मुखातिब एसपी ने बताया कि पांच टीमें गठित की गयी हैं। जांच की जा रही है। शीघ्र ही प्रकरण का खुलासा कर आरोपियों को जेल भेजा जायेगा। 
शमीम/18/01/2021