क्षेत्रीय

हमें दुनिया बदलने की जरूरत नहीं अपनी सोच बदलने की आवश्यकता है:डब्ल्यूपीसी इंचार्ज

17/10/2020

अलीगढ़ (ईएमएस)। मिशन शक्ति“ अभियान का नोडल अधिकारी द्वारा एलईडी वैन को हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ किया गया।
अभियान के तहत महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन बढ़ाने को किया जाएगा जागरूक
नगर एवं देहात के प्रमुख चौराहों पर एलईडी वैन के माध्यम से जानकारी दी जाएगी।
महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन के उद्देश्य से प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शारदीय नवरात्र के पावन अवसर पर “मिशन शक्ति“ का शुभारम्भ किया गया। मिशन शक्ति शारदीय नवरात्र से बासंतिक नवरात्र तक चलेगा।
मिशन शक्ति नोडल अधिकारी श्रुति द्वारा डीएम एवं सीडीओ के साथ कलैक्ट्रेट परिसर में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा भेजी गयी एलईडी वैन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। उन्होंने बताया कि दोनों एलईडी वैन नगर एवं देहात क्षेत्र के प्रमुख स्थानों एवं चौराहों पर रूक-रूककर अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार करेंगी। कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में नोडल अधिकारी श्रुति ने कहा कि महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन और महिला अपराध व बाल अपराध के संबंध में जागरुकता पैदा करने के लिये एलईडी वैन को शासन द्वारा भेजा गया है। उन्होंने जनमानस से अपील करते हुए कहा कि एलईडी के माध्यम से बताई जा रही बातों को ध्यान से सुनें और अपनी दिनचर्या में शामिल करें।
एडिशनल सीईओ ने कहा कि महिलाओं के प्रति अपराध और असम्मान की भावना को सिर्फ कानून या सजा से नहीं रोका जा सकता, बल्कि समाज में महिलाओं के प्रति मानसिक परिवर्तन लाने के लिये भी प्रयास करने होंगे। प्रदेश सरकार द्वारा महिला सशक्तीकरण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए गये हैं। उत्तर प्रदेश आपराधिक मामलों में अभियुक्तों को सजा दिलाने में देश का अग्रणी राज्य है। शासन द्वारा पीड़ितों को त्वरित न्याय दिलाने के लिये मजिस्ट्रेट न्यायालय, अपर सत्र न्यायालय एवं नये फास्ट ट्रैक कोर्ट की स्थापना की गयी है। महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन की स्थापना के साथ ही छात्राओं को शिक्षा का बेहतर वातावरण उपलब्ध कराने के लिये एंटी रोमियो स्क्वॉयड का गठन किया गया है। उन्होंने बताया कि घरेलू हिंसा के मामलों में त्वरित कार्यवाही के लिये वन स्टॉप सेंटर का संचालन किया जा रहा है। मा0 मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी “मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना“ में सहायता राशि को बढ़ाकर 51 हजार रूपये किया गया है। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत कन्या भुण हत्या पर अंकुश लगाते हुए उनको स्नातक स्तर तक नि:शुल्क शिक्षा प्रदान कर रही है ताकि वह जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में आगे बढ़ सकें।
धर्मेन्द्र राघव/17/10/2020