राज्य समाचार

मुरैना शराब कांड: एसआईटी ने सौंपी रिपोर्ट, आज कलेक्टर्स-एसपी से बातचीत करेंगे शिवराज, आबकारी एक्ट में बदलावों का हो सकता है ऐलान

18/01/2021

मप्र में सख्त होगा कानून आबकारी एक्ट
भोपाल (ईएमएस)। मुरैना के अवैध जहरीली शराब कांड की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) की रिपोर्ट मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पास पहुंच गई है। जांच रिपोर्ट में बताया गया है कि अवैध शराब निर्माण की जानकारी पुलिस, प्रशासन और आबकारी तीनों को थी। यहां काफी लंबे समय से अवैध शराब का निर्माण हो रहा है। एसआईटी की जांच रिपोर्ट में की गई अनुशंसाओं के आधार पर अब इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए आबकारी एक्ट में बदलाव किया जाएगा। इस तरह के मामलों में लिप्त पाए जाने वाले लोगों के लिए और सख्त सजा का प्रावधान किया जाएगा।
सरकार इसके लिए अन्य देशों के कानूनों का भी अध्ययन कराएगी। इसके अलावा अब नई शराब नीति में बदलाव किया जाए और शराब दुकानों के ठेके छोटे-छोटे समूहों को दिए जाएंगे।
आज शाम कलेक्टर-एसपी से चर्चा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को शाम पौने चार बजे प्रदेशभर के कलेक्टर-एसपी के साथ जहरीली शराब के मामलों को रोकने के लिए चर्चा करेंगे और ऐसे मामलों में और सख्त कार्यवाही करने के निदेश देगे। मुरैना में अवैध शराब के कारोबार से जुड़े मुख्य अभियुक्त मुकेश किरार को चेन्नई में गिरफ्तार किया जा चुका है। मध्यप्रदेश पुलिस उसे लेकर मध्यप्रदेश आएगी फिर उस पर कार्यवाही करने के लिए उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीम ने मुरैना के छैरा-मानपुर मे मुकेश किरार के दो मकानों को ध्वस्त कर दिया। मुकेश किरार की अवैध शराब फैक्ट्री में बनने वाली जहरीली शराब को पीने से दो दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।
बढ़ेगा जुर्माना
मौजूदा आबकारी नीति में चुनिंदा समूहों को ही शराब के ठैके दिए जाते है। अब नई शराब नीति में बदलाव किया जाए और शराब दुकानों के ठेके छोटे-छोटे समूहों को दिए जाएंगे ताकि अधिक लोग इस काम में उतरें तो प्रतिस्पर्धा रहेगी। सरकार शराब कारोबार से अब और अधिक लोगों को जोड़ेगी ताकि अवैध शराब निर्माण के कारोबार पर शिकंजा कसा जा सके। अवैध शराब निर्माण, भंडारण और परिवहन करने वालों पर जुर्माने की राशि बढ़ाने और सजा की अवधि बढ़ाने का भी निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को इस मसले पर कलेक्टर-एसपी के साथ चर्चा करेंगे।
विनोद कुमार उपाध्याय, 18 जनवरी, 2021