क्षेत्रीय

आवारा मवेशियों से राहगीरों को हो रही परेशानी

12/06/2019

नपा नही दे रही ध्यान
कोतमा (ईएमएस)। नगर के मुख्य मार्गो मे दिन रात आवारा मवेशियो का जमघट लगा रहता है इससे दुर्घटनाओ की आशंका बनी रहती है कई बार वाहन चालक अंधेरे मे खडे मवेशियो को देख नही पाते और दुर्घटना के शिकार हो जाते है आवारा मवेशियो को कांजी हाउस मे रखने के वजाय नगर पालिका प्रशासन इस दिशा मे कोई कार्यवाही नही कर रहा है आवारा मवेशी नगर के मुख्य मार्ग सहित नगर के हर गली मोहल्ले मे धमाचौकडी करते नजर आते है इतना ही नही आवारा मवेशियो के बीच सडक मे आराम फरमाने की वजह से कई बार वाहन चालक दुर्घटना ग्रस्त होकर चोटिल भी हो जाते है सब्जीमण्डी मे आवारा मवेशियों को घूमते हुए आसानी से देखा जा सकता है हमेशा ही सडको पर मवेशियो का जमघट बना रहता है इसके अलावा आजाद चौक, गांधी चौक, रेलवे स्टेशन चौक, मुखर्जी चौक, बस स्टैन्ड, यात्री प्रतीक्षालय, अनूपपुर रोड, विकास नगर, भालूमाड़ा रोड, कदमटोला, केशवाही तिराहे सहित कई स्थानो मे आवारा मवेशी अक्सर देखने को मिल जाते है।
कोतमा में रविवार को साप्ताहिक बाजार लगती है बाजारो मे आवारा मवेशियों द्वारा अचानक सब्जी पर झपटने से आसपास खडे लोगो मे अफरा तफरी का महौल निर्मित हो जाता है। नगर मे जगह जगह पडे कचरे के ढेर से अपना पेट भरने वाले अधिकांश मवेशी बीमार भी हो रहे है लोगो ने बताया कि आवारा मवेशियों की देख रेख की जिम्मेवारी पशुपालको की होती है लेकिन पशुपालक अपने मवेशियो को खुला छोड देते है जिसके कारण यह आवारा मवेशी जगह जगह पडे कूडा करकट से ही अपना पेट भरते है जिसके कारण जहरीले वस्तुए खाने से कई बार मवेशी मर भी जाते है। जबकि नगर पालिका के द्वारा आवारा मवेशी पकडने के लिए हाका गुप भी बनाया गया है।
उसके बावजूद भी कोतमा नगर मे कही हांका गैंग दिखाई नही देता कई बार तो यात्रीप्रतीक्षण मे बैठे यात्रियों को आवारा मवेशी झपट्टा मारकर घायल भी कर देते है। वर्तमान समय मे तो हालात यह है कि अवारा मवेशियो का जमघट दिनभर तहसील परिसर मे लगा रहता है जबकि नपा के द्वारा आवारा मवेशियों को पकडने के लिए वाहन भी बनवाया गया है लेकिन वह वाहन महज सोपीस बनकर रह गया है। कोतमा नगर पालिका मूक बनकर बैठी है इस सबंध मे कोतमा एसडीएम से भी चर्चा की गई लेकिन उनके द्वारा भी कोई कारगर कदम नही उठाया जा रहा है।

-करते हैं ताण्डव
प्रतिदिन नगर की गलियों में आवारा मवेशी आपस में लडाई करते हैं जिसके कारण लोगों में भय व्याप्त होजाता है। विगत 8 दिनों पूर्व शाम 7 स 8 के बीच में दो साड नगर के हृदय स्थल गांधी चौक में लगभग आधे घण्टे तक ताण्डव करते रहे। किसी तरह से चाट फुल्की बेचने वालों ने पानी डाल कर इनकी लडाई को शांत करवाया। जबकि शाम को गांधी चौक में काफी भीड भाड रहता है। इनकी लडाई के कारण अफरा तफरी का माहौल बन गया लोग अपनी जान बचा कर इधर उधर भागते नजर आए। यह सब नजारा गांधी चौक में लगेकैमरे में भी कैद हो गया। लेकिन नपा अमले के ऊपर इसका कोई प्रभाव नहीं पडा प्रतिदिन ये आवारा मवेशी नगर की गलियो में इसी तरह ताण्डव करते नजर आते हैं।

-इनका कहना है-
हांका ग्रुप को आवारा मवेशियोंको पकडने के निर्देश दिए गए हैं साथ ही ऐसे मवेशियों को नगर के बाहर पकड कर छोड जाएगा।
-श्रीनिवास शर्मा
सीएमओ नगर पालिका कोतमा।
प्रवीण/12/06/2019