क्षेत्रीय

किसानों को प्रतिवर्ष मिले बीस हजार की आर्थिक मदद

08/01/2019

भारतीय किसान संघ ने कलक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन करते हुए डिप्टी कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा
अशोकनगर (ईएमएस)। भारतीय किसान संघ ने कलक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन करते हुए प्रशासनिक अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मांग की है, कि प्रति एकड़ जमीन के हिसाब से प्रदेश के किसान को 20 हजार रुपये प्रति वर्ष आर्थिक मदद करे। इससे किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।
भारतीय किसान संघ के जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में दर्जनों किसान कृषि मण्डी से रैली निकालकर कलक्ट्रेट पर पहुंचे और मांग को लेकर प्रदर्शन किया। आरोप लगाया कि केंद्र और राज्य सरकार किसान हित के लिए कर्जमाफी, प्रधानमंत्री फसल बीमा, कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराने तथा सब्सिडी का बखान किया जा रहा है। जबकि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से किसी किसान को लाभ नहीं मिला। गलत नीतियों के चलते गांवों से प्रति वर्ष की ग्रामीण पलायन कर रहे हैं। किसान संघ द्वारा मांग की गई कि किसान उत्थान के लिए प्रति एकड़ 20 हजार के हिसाब से किसानों खाते में सीधे पहुंचाए जाए। साथ ही समर्थन मूल्य पर चना एवं मसूर खरीदी में जिन किसानों का भुगतान शेष्ज्ञ है उसको किसानों के खाते में डलवाने, कर्जमाफी की घोषणा में सभी किसानों को शामिल किये जाने, चना एवं मसूरी खरीदी की बोनस राशि खातों में डलवाए जाने, सिंचाई हेतु राजघाट बांध से जिले की तिहसीलों में नहरें निकाली जाने, भावांतर योजना में खरीदे गए सोयाबीन की बोनस राशि बकाया किसानों के खातों में डलवाने, वर्ष 2018 खरीफ फसल बीमा का भुगतान कराए जाने एवं प्रदेश सरकार द्वारा वचन पत्र में जो पंचायत स्तर पर जो गौशाला खोलने का वचन दिया था उसका क्रियान्वयन शीघ्र कराने की मांग की गई। इस मौके पर जिलामंत्री रामकिशन रघुवंशी डंगोरा, जगराम सिंह यादव, प्रकाश रघुवंशी, जिलाध्यक्ष राजकुमार आदि मौजूद रहे।
ईएमएस/प्रवीण/08/01/2019