लेख

चंदेरी पर्यटन को लगे उम्मीदों के पंख (हवाई पट्टी निर्माण की मांग) (लेखक- मजीद खां पठान / ईएमएस)

22/07/2021

प्रत्येक पर्यटन स्थल की अपनी-अपनी विशेषताएं होती हैं जिनके कारण देशी-विदेशी पर्यटक उन स्थलों की ओर आकर्षित होकर उस पर्यटन स्थल के प्रति अपना मन बनाते हुए वहां पहुंचने का प्रयास करते हैं। इसी प्रकार प्रत्येक पर्यटन स्थल की अपनी-अपनी परिस्थितिजन्य आवश्यकताएं होती हैं जिन्हें पूर्ण किए जाने से पर्यटक सुविधाओं का और अधिक विस्तार होता है।
यदि हम किसी भी नगर अथवा क्षेत्र के समग्र विकास की बात करें तो उसमें आवागमन के साधन प्राथमिकता क्रम में अब्बल पायदान पर आते हैं। वही जब हम किसी भी पर्यटन स्थल की बात करें तो आवागमन रूपी तथ्य और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाते हैं। आवागमन के साधन और सुविधाएं जितनी अधिक विकसित होगी वह पर्यटन स्थल उतना ही अधिक पर्यटन क्षेत्र में उन्नति करते हुए भारतीय पर्यटन क्षेत्र के अलावा भारतीय अर्थव्यवस्था में अपना योगदान प्रदान कर सकेगा।
जिला अशोकनगर अंतर्गत स्थित विश्व प्रसिद्ध ऐतिहासिक एवं पर्यटन चंदेरी किसी परिचय का मोहताज नहीं है। यहां का संपूर्ण पर्यटन हेरिटेज पर आधारित है, भारत सरकार पर्यटन मंत्रालय द्वारा *वेस्ट हेरिटेज सिटी सम्मान* से सम्मानित होकर हथकरघा पर निर्मित चंदेरी साड़ियां नगर की विरासत है। वहीं जिला अंतर्गत श्री आनंदपुर साहिब अद्वैत मत के अनुयायियों के लिए तीर्थ स्थल हैं। करीला धाम, थूबौन, कदवाया, मल्हारगढ़ आदि अन्य तीर्थ स्थल हैं। जिसके चलते वर्षभर देशी-विदेशी पर्यटकों का आवागमन जारी रहता है।
सबसे अच्छी बात यह है कि चंदेरी हथकरघा कुटी उद्योग यानी चंदेरी साड़ियां एवं अन्य वस्त्र अपनी खूबियों के कारण टेक्सटाइल श्रेणी में *विश्व धरोहर सूची* में अपना नाम अंकित कराने के लिए संघर्षरत हैं। वहीं दूसरी ओर चंदेरी धीरे-धीरे बालीवुड की अच्छी खासी पसंद बनता जा रहा है।
उम्मीद की जाती है कि जल्द से जल्द चंदेरी फिल्म हब के रूप में उभरेगा। चंदेरी पर्यटन धीरे-धीरे ही सही लेकिन इस आशा और विश्वास के साथ आगे बढ़ रहा है कि वह दिन दूर नहीं जब चंदेरी मध्य प्रदेश में आदर्श पर्यटन स्थल के रूप में जाना पहचाना जावेगा।
अतएव यह आवश्यक बन पड़ा है कि चन्देरी पर्यटन बढ़ावा हेतु आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए ताकि और अधिक सैलानी आकृष्ट हो इस हेतु नगर में हवाई पट्टी की आवश्यकता अनिवार्य घटक है।
उल्लेखनीय तथ्य यह भी है कि जिला अशोकनगर में कहीं भी हवाई पट्टी उपलब्ध नहीं है। ऐसी परिस्थितियों में हवाई पट्टी विकसित किया जाना अति आवश्यक ही नहीं अपितु अनिवार्य है। ताकि चंदेरी पर्यटन सहित समूचा जिला लाभान्वित हो सके साथ ही भविष्य में चंदेरी पर्यटन एवं जिला उद्योग क्षेत्र में पूंजी निवेश हेतु लालायित इच्छुक निवेशक उद्यमी को भी सुविधा का लाभ मिल सके।
राज्य और केंद्रीय सरकार की भी यही खुली मंशा है कि देश प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने साथ ही देशी-विदेशी पर्यटकों को लुभाने हेतु छोटे छोटे विमानों का उपयोग किया जावे। पूर्व में मध्य प्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा भी प्रदेश में पर्यटन स्थलों को एयर कनेक्टिविटी से जोड़ने के उद्देश्य टैक्सी सेवा की शुरुआत की थी।
उक्त तथ्यों को दृष्टिगत रखते हुए दिनांक 23/10/2017 को श्रीमान जिलाधीश महोदय अशोक नगर सहित प्रभारी मंत्री जिला अशोकनगर, श्रीमान पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री मध्यप्रदेश शासन, क्षेत्रीय सांसद महोदय, प्रबंधक संचालक मध्य प्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम भोपाल एवं अनुविभागीय अधिकारी महोदय चंदेरी को आवेदन पत्र प्रेषित कर चंदेरी में हवाई पट्टी स्थापना हेतु निवेदन किया गया था।
उक्त आवेदन पत्र पर कार्रवाई करते हुए श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी महोदय चंदेरी द्वारा दिनांक 07/ 11/ 2017 को तहसीलदार चंदेरी को पत्र एवं आवेदन पत्र की छाया प्रति प्रेषित कर उक्त संबंध में भूमि का प्रस्ताव तैयार करने हेतु निर्देशित किया गया। दिनांक 23/08/2018 को *चंदेरी पर्यटन - हवाई पट्टी की स्थापना* नामक लेख चंदेरी में हवाई पट्टी की जरूरत को दर्शाते हुए सोशल मीडिया के माध्यम से विचार साझा किए गए।
2020 में श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा हवाई पट्टी स्थापना हेतु ली गई रुचि फल स्वरुप जिला एवं स्थानीय प्रशासन द्वारा भूमि चिन्हित किए जाने हेतु की गई प्रारंभिक कार्यवाही उल्लेखनीय है।
2021 में समय ने करवट बदली और श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल उपरांत नागरिक और उड्डयन मंत्री के पद पर ताजपोशी होते ही हमारे अरमानों ने अंगड़ाई लेते हुए श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया जी को बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए चंदेरी पर्यटन एवं जिला उद्योग विकास हेतु चंदेरी में हवाई पट्टी स्थापना की गुजारिश की गई है। साथ ही श्रीमान जिलाधीश महोदय अशोक नगर श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी एवं तहसीलदार महोदय चन्देरी को आवेदन प्रस्तुत कर उक्त दिशा में कार्यवाही हेतु निवेदन किया गया है।
22जुलाई/ ईएमएस