ट्रेंडिंग

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को सोनभ्रद जाने से रोका, कांग्रेस हुई लाल

19/07/2019

राहुल गांधी सहित कई नेताओं ने की सरकार की निंदा
वाराणसी (ईएमएस)। यूपी के सोनभद्र जिले में 10 लोगों की जघन्‍य हत्‍या का मामला यूपी की राजनीति में तूल पकड़ चुका है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को घायलों को देखने के लिए वाराणसी पहुंची हैं। वहीं, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने विवाद के लिए कांग्रेस सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है। योगी ने कहा कि कांग्रेस के शासन काल के दौरान वनवासियों की जमीन को एक सोसायटी के नाम कर दिया गया। उन्‍होंने कहा कि इस मामले की जड़ तक जाने के लिए 3 सदस्‍यीय जांच कमिटी बनाई गई है, जो कि 10 दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी। इसके पहले शुक्रवार को सोनभद्र में घटनास्‍थल पर जा रहीं प्रियंका गांधी को मिर्जापुर में रोक दिया गया। प्रियंका गांधी वहीं पर धरने पर बैठ गईं इसके बाद प्रशासन ने उन्‍हें हिरासत में ले लिया।
सीएम ने कहा कांग्रेस की नीतियों का नतीजा
मुख्‍यमंत्री योगी ने शुक्रवार को कहा, सोनभद्र की घटना दुर्भाग्‍यपूर्ण है। 1955 से 1989 तक यह जमीन आदर्श सोसायटी के नाम पर थी। 1989 में इस जमीन एक व्‍यक्ति के नाम पर चढ़ा दिया। आदर्श सोसायटी के नाम जमीन रहने पर भी यहां आदिवासी खेती करते थे और कुछ लगान सोसायटी को दिया करते थे। जिन लोगों ने इस जमीन को अपने नाम किया था, वे इस जमीन पर कब्‍जा नहीं कर पाए। उन्‍होंने कहा,1989 में इस दूसरे को बेच दिया। वनवासी इस जमीन पर खेती करते रहे। इस पूरे प्रकरण की तह में जाएं तब 1955 में कांग्रेस की सरकार के दौरान स्‍थानीय लोगों की जमीन को हड़पने के लिए ग्राम समाज की जमीन को आदर्श सोसायटी के नाम पर दिया गया। जमीन को बाद में 1989 में बिहार के एक आईएएस के नाम पर कर दिया गया था। आईएएस के नाम किया जाना पूरी तरह गलत था उस समय भी कांग्रेस की सरकार थी।'
सीएम ने बताया कि बिहार के अधिकारी ने कब्‍जा नहीं कर पाने पर इस जमीन को वर्ष 2017 ग्राम प्रधान को बेच दिया। इस मामले कई मुकदमे चलते रहे। उन्‍होंने कहा कि इस पूरे प्रकरण में 1955, 1989 और 2017 में हुई हरेक घटना की जांच जरूरी है। यह गंभीर प्रकरण हैं इसकारण ही प्रशासन के द्वारा 3 सदस्‍यीय कमिटी बनाई गई है।
उधर प्रियंका गांधी को रोके जाने पर राहुल गांधी ने इस सत्ता का दुरुपयोग बताया और कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून का राज पूरी तरह से खत्म हो गया है। कांग्रेस ने ट्वीट किया, 'सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने जा रही कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी अजय सिंह बिष्ट सरकार की तानाशाही का निकृष्टतम उदाहरण है। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी प्रियंका की गिरफ्तारी को सत्ता की मनमानी करार दिया। वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा है कि उत्तर प्रदेश की सरकार का गलत रवैया है। जिस तरह से यूपी सरकार ने प्रियंका गांधी जी को सोनभद्र फायरिंग के शिकार परिवारजनों से मिलने से रोका जाना सरासर गलत है।
आशीष/19 जुलाई 2019