क्षेत्रीय

कागजों में सिमट कर रहा गई स्मार्ट सिटी के विकास की तमाम योजनायें

15/09/2020

अलीगढ़ (ईएमएस)। शहर के विकास के लिए कागजों पर जो योजनाएं बनाई गईं, वो जमीन पर नहीं उतर सकी हैं। चाहे वह सड़क निर्माण हो, नाला निर्माण या फिर सुंदरीकरण का काम। कोई काम पूर्ण रूप से नहीं हो सका। सेंटर प्वॉइंट चौराहे से ग्जुर रहा मैरिस रोड केला नगर चौराहे तक जाता है। यहां से एक रास्ता मेडिकल व एएमयू सर्किल व दूसरा मार्ग रामघाट रोड को जोड़ता है। रामघाट रोड पर मेडिकल व एएमयू के लिए वीवीआइपी आगमन अक्सर इसी मार्ग से होता है। यहां सीमेंटेड सड़क व नाला निर्माण के लिए पिछले साल प्रस्ताव रखा गया था, जिस पर मुहर भी लग गई। लेकिन नगर निगम सड़क निर्माण न करा सका। नाला निर्माण शुरू कराया गया था, कुछ हिस्से में रेलिग भी लगा दी गई, लेकिन काम पूरा नहीं हुआ। पूरे मार्ग पर जगह-जगह गड्ढे हैं। मैनहोल भी मुसीबत बने हैं। नालों पर दुकानों का अतिक्रमण है, लेकिन यहां कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई। पिछले दिनों अतिक्रमण हटाने के लिए अभियान चलाया गया था। नालों से अस्थाई अतिक्रमण हटाकर चेतावनी दे दी। इसके बाद पुन: अतिक्रमण हो गया।
स्मार्ट सिटी में शामिल होने के बाद केला नगर चौराहा व यहां से रामघाट रोड तक जाने वाले मार्ग को दुरुस्त कराने की योजना भी थी, वो अभी पूरी न हो सकी। हालांकि प्रशासन को पूरा फोकस सेंटर प्वाइंट व इससे जुड़े क्षेत्रों को संवारने का था। स्मार्ट सिटी में कार्ययोजना तैयार कर निर्माण कार्य का खाका भी खींच लिया गया। काम भी शुरू हुआ, लेकिन पूरा न हो सका। स्मार्ट सिटी के कई प्रोजेक्ट गायब हो गए। केला नगर चौराहा व यहां से रामघाट रोड तक जाने वाले मार्ग को दुरुस्त कराने की योजना भी थी, वो अभी पूरी न हो सकी।
केला नगर चौराहे का भी हाल बुरा है। सड़क पर गड्ढे हैं, नालों के किनारे रेक्षलग न होने से हादसे की संभावना रहती है। दोदपुर की ओर जाने वाला मार्ग भी खस्ता हाल है, जबकि कुछ माह पूर्व यहां सड़क डाली गई थी। नाला निर्माण भी हुआ, जिसमें तमाम खामियां हैं। शिकायत के बाद भी अफसरों ने ठेकेदार को हरी झंडी दे दी। कूड़ा कलेक्शन प्वाइंट भी यहां से हटाया नहीं गया, जिससे गंदगी-दुर्गंध से फैलने से स्थानीय लोग परेशान हैं। मेयर मोहम्मद फुरकान ने शुक्रवार को जवाहर भवन स्थित अपने कार्यालय में निगम अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्यों में तेजी लाने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि जनहित के कार्यों में लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। निर्माण कार्य, पथ प्रकाश, पेयजल, सफाई व्यवस्था की नियमित समीक्षा की जाए। इसकी रिपोर्ट दी जाए। बोर्ड अधिवेशन से पूर्व किए गए कार्यों की पूरी रिपोर्ट तैयार की जाए। शहर में जो कार्य प्रस्तावित हैं, उन पर काम हो रहा है। सड़क निर्माण के कुछ प्रोजेक्ट लंबित हैं, जिन्हें जल्द शुरू करा दिया जाएगा।
धर्मेन्द्र राघव/प्रवीण/15/09/2020