क्षेत्रीय

आक्रोषित कांग्रेसियों का भाजपा मुख्यालय पर प्रचंड प्रदर्शन

19/07/2019

नई दिल्ली (ईएमएस)। कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा गिरफतार किये जाने के खिलाफ डीडीयू मार्ग स्थित भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष श्रीमती शीला दीक्षित के आव्हान पर हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राजीव भवन कांग्रेस मुख्यालय पर एकत्रित होकर प्रंचड प्रदर्शन किया।  प्रदर्शन में सभी वरिष्ठ नेता पूर्व सांसद जय प्रकाश अग्रवाल और महाबल मिश्रा, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तीनों कार्यकारी अध्यक्ष हारुन यूसूफ, देवेन्द्र यादव और राजेश लिलौठिया, दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री रमाकांत गोस्वामी, मंगतराम सिंघल, डा. नरेन्द्र नाथ, प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता जितेन्द्र कुमार कोचर, हरनाम सिंह और रोहित मनचंदा, पुष्पेन्द्र श्रीवास्तव, दिल्ली प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी सहित युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, सेवा दल और एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद थे।
प्रदर्शनकारी हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हाथों में प्लेकार्ड लिए उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा मिर्जापुर में प्रियंका गांधी को गिरफतार करने के विरोध में नारे लगाए। जब प्रियंका गांधी को गिरफतार किया गया वह सोनभद्रा जिला में जमीन के विवाद में हुई गोलीबारी में मारे गए लोगां के परिवार वालों से मिलने जा रही थी।  प्रियंका गांधी को जहां पर रोका गया, रोड़ पर वहीं अपने समर्थकों के साथ बैठ गई, लेकिन बाद में उन्हें गिरफतार कर लिया गया। ज्ञात हो कि 17 जुलाई को 11 लोगों की हत्या की गई और 28 लोग घायल हो गए थे, जब सोनभद्र जिले के घोरावल इलाके की विवादित भूमि पर गांव के प्रधान और उसके समर्थकों द्वारा कब्जा करने का आदिवासी किसानों ने विरोध किया था। 
तीनों कार्यकारी अध्यक्ष हारुन यूसूफ, देवेन्द्र यादव और राजेश लिलौठिया ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार सत्ता के नशे में लोकतंत्र का गला घोट रही है। लोकतंत्र की रक्षा के लिए आज हम भाजपा कार्यालय पर भाजपा नेताओं व प्रधानमंत्री को चेताने आए है कि मर्यादा का पालन करे ओर लोकतंत्र का गला न घोटें।
 पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद जय प्रकाश अग्रवाल ने कहा कि प्रियंका गांधी सिर्फ पीढ़ित परिवारों से मिलने ही जा रही थी, यह लोग इतने भयभीत है कि उन्हें बीच रास्ते में रोक कर गिरफतार कर लिया गया। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार होश में आकर काम करे। लोकतंत्र में सबका अधिकार है, सत्ता के नशे में वह तानाशाह न बने।
पूर्व सांसद श्री महाबल मिश्रा ने कहा कि इतिहास गवाह है कि जब-जब लोकतंत्र पर प्रहार हुआ तब देश में राजनीतिक अस्थिरता को बढ़ावा मिला है। भारतीय जनता पार्टी की भयभीत सरकार प्रियंका गांधी से डर गई और उन्हें गिरफतार कर लिया गया। ऐसी सरकार का पतन जल्दी होता है।   
कांग्रेस प्रदर्शनकारी हाथों में प्लेकार्ड लिए ’’प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी, मोदी योगी की गई मती मारी’’, ‘‘प्रियंका की शक्ति अपार, धबरा गई मोदी सरकार’’, ‘‘नरेन्द्र मोदी डरता है, पुलिस को आगे करता है’’, ‘‘प्रियंका गांधी को रिहा करो, रिहा करो-रिहा करो’’, ‘‘प्रियंका गांधी को किया गिरफ्तार, लोकतंत्र पर किया प्रहार’’ आदि नारे लगा रहे थे।
धर्मेन्द्र, 19 जुलाई, 2019