राज्य समाचार

मध्यप्रदेश कोरोना संक्रमण में टॉप-10 राज्यों से बाहर

29/06/2020

- संक्रमण के 13186 केस में से 10084 मरीज हुए ठीक, रिकवरी रेट 76 प्रतिशत
नई दिल्ली (ईएमएस)। मप्र में कोरोना संक्रमण की गति धीमी हो गई है। इस कारण प्रदेश कोरोना संक्रमण में टॉप-10 राज्यों से बाहर हो गया है। कोरोना संक्रमण के मामले में महाराष्ट्र नंबर वन पर है। उसके बाद दिल्ली, तमिलनाडु, गुजरात, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, प. बंगाल, तेलंगाना, हरियाणा, कर्नाटक का नंबर आता है। मप्र 11वें नंबर पर पहुंच गया है।
मप्र अब सबसे संक्रमित 10 राज्यों में नहीं है। यहां अब तक संक्रमण के 13186 केस आए। इनमें से 10084 मरीज ठीक हो चुके हैं, यानी रिकवरी रेट 76 प्रतिशत हो गया है। अब दसवें नंबर पर कर्नाटक है। हालांकि, अभी दोनों के आंकड़ों में ज्यादा अंतर नहीं है। कर्नाटक में अब तक 13190 केस आए हैं। मप्र में सोमवार को 184 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। राज्य में संक्रमितों की संख्या अब 13 हजार 186 पर पहुंच गई है। प्रदेश में अब तक 557 संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है।
विधायक दिव्यराज सिंह कोरोना पॉजिटिव
इधर रीवा जिले के सिरमौर से भाजपा विधायक दिव्यराज सिंह की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। उन्हें होम आइसोलेशन में रखा गया है। विधायक का 27 जून को सैंपल लिया गया था। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरएस पांडेय ने बताया कि विधायक को फिलहाल किसी प्रकार के लक्षण नहीं दिख रहे हैं। चिकित्सकों की टीम घर पर ही उनकी लगातार देखभाल कर रही है। विधायक गत 19 जून को राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान करने भोपाल आए थे। यहां वह विधानसभा में मतदान के दौरान जावद से विधायक ओमप्रकाश सकलेचा के संपर्क में आए थे। बाद में सकलेचा की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधायक के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है।

महाराष्ट्र में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ा
महाराष्ट्र में लॉकडाउन 31 जुलाई तक बढ़ा दिया गया है। इससे पहले पश्चिम बंगाल और झारखंड में लॉकडाउन 31 जुलाई तक और मणिपुर में 15 जुलाई तक बढ़ाया गया था। उधर, देश में अब तक 5 लाख 49 हजार 35 कोरोना केस आ चुके हैं। इनमें से आधे से ज्यादा, यानी 3.21 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं, 2.10 लाख का इलाज चल रहा है। 16 हजार 492 संक्रमितों ने जान गंवाई है।
विनोद कुमार उपाध्याय/ 29 जून 2020