राष्ट्रीय

कांग्रेस ने स्वीकार किया उसके पास न नेता, न नीति, न नीयत : पात्रा

09/10/2019


नई दिल्ली (ईएमएस)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने पर टिप्पणी की तो भाजपा ने उसे लपकने में देर नहीं लगाई। पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने इसे विधानसभा चुनाव से पहले ही कांग्रेस द्वारा हार स्वीकार कर लेने के रूप में पेश किया। संबित पात्रा ने खुर्शीद के बयान पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा अब कांग्रेस के पास न नेता है, न नीति और न ही नीयत। भाजपा प्रवक्ता ने लिखा खुर्शीद मानते हैं कि राहुल गांधी 'छोड़ गए' और सोनिया गांधी सिर्फ 'फौरी इंतजाम' देख रही हैं। इसका मतलब है कि अब कांग्रेस में न कोई नेता बचा है, न नीति बची है और न नीयत बची है। पात्रा ने खुर्शीद के इस बयान को महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की डांवाडोल स्थिति का इजहार बताया। संबित पात्रा ने कहा कि दोनों राज्यों में 21 अक्टूबर को होने वाले मतदान से पहले कांग्रेस ने दोनों राज्यों में अपनी पराजय स्वीकार कर ली है। उन्होंने कहा तो आखिरकार कांग्रेस ने आने वाले विधानसभा चुनावों के लिए मतदान से पहले ही हार मान ली है!
उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे को पहली बार किसी वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने 'छोड़ जाना' कहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे नेता ही छोड़ गए। राहुल गांधी के इस फैसले के कारण पार्टी हार के बाद जरूरी आत्मनिरीक्षण भी नहीं कर पाई। उन्होंने कहा विश्लेषण के लिए भी एकजुट नहीं हो सके कि हम आखिर लोकसभा चुनाव क्यों हारे। हमारी सबसे बड़ी समस्या यही है कि हमारे नेता ने हमें छोड़ दिया। वैसे भाजपा राहुल के इस्तीफे पर लगातार चुटकी लेती रही हैं, लेकिन सलमान खुर्शीद जैसे कांग्रेस के किसी वरिष्ठ नेता ने पहली बार राहुल के 'छोड़ जाने' जैसी बात कही है। ऐसे में चुनाव से पहले राहुल के विदेश दौरे पर जाने को लेकर निशाना साध रही भाजपा को एक और बड़ा मौका हाथ लग गया है।
अनिरुद्ध, ईएमएस, 09 अक्टूबर 2019