भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

मजदूरों की हड़ताल के कारण भारत-पाकिस्तान का कारोबार रुका

img
सामान उतरवाने वाले पोर्टर हड़ताल पर 
अमृतसर (ईएमएस)। भारत और पाकिस्तान की बाडर्र पर अटारी सीमा के जरिए भारत और पाकिस्‍तान के बीच होने वाला व्‍यापार थम गया है, क्‍योंकि सामान ढोने और उतारने वाले (पोर्टर) हड़ताल पर चले गए हैं। इस कारण सीमा के दोनों तरफ सैकड़ों ट्रक फंसे हुए हैं। इंटीग्रेटेड चेक पोस्‍ट (आईसीपी) जिसके जरिए दोनों देशों के बीच व्‍यापार होता है, वहां सामान उतरवाने के लिए पोर्टर कुछ निश्चित अतिरिक्‍त भाड़े की मांग कर रहे हैं। उनकी मांग नहीं माने जाने पर वें हड़ताल पर चले गए है।
हर दिन आईसीपी के जरिए पाकिस्‍तान द्वारा करीब 150-200 ट्रक सामान आयात करते हैं। मगर हड़ताल के कारण पिछले चार दिनों से सीमा के दोनों तरफ सैकड़ों ट्रक फंसे हुए हैं। ट्रक वाले इस उम्‍मीद से इंतजार कर रहे हैं कि चीजें जल्‍द बेहतर हो जाएंगी। मगर मंगलवार को भी कोई राहत नहीं मिली। हड़ताल के कारण दोनों देशों के बीच का व्‍यापार प्रभावित हो रहा है। पाकिस्‍तान द्वारा जो महत्‍वपूर्ण चीजें भारत भेजी जाती हैं, उनमें सीमेंट,जिप्‍सम,ड्राई फ्रूट्स,सोडा एश व कुछ अन्‍य उत्‍पाद शामिल हैं। मजदूरों की हड़ताल के कारण व्‍यापारियों के पास भी इंतजार के अलावा कोई विकल्‍प नहीं है। पाकिस्‍तानी सीमेंट का आयात करने वाले विक्रांत अरोड़ा का कहना है, पिछले चार दिनों से हड़ताल जारी है और हम हर दिन नुकसान झेल रहे हैं। हमारे सामान जो पाकिस्‍तान से आए हैं वो सीमा पर फंसे हुए हैं और हम हर दिन इस उम्‍मीद से जाते हैं कि चीजें जल्‍द बेहतर हो जाएंगी। हम चाहते हैं कि सरकार हस्‍तक्षेप करे और इस गतिरोध को खत्‍म करे। वहीं एक अन्‍य आयातक जस्‍सा सिंह संधु ने कहा, अटारी सीमा पर व्‍यापार पूरी तरह से बंद हो गया है और व्‍यापारी समुदाय को हर दिन नुकसान झेलना पड़ रहा है। भारत और पाकिस्‍तान दोनों तरफ ट्रक फंसे हुए हैं। सरकार को जरूर इस मामले में हस्‍तक्षेप करना चाहिए।
आशीष/ईएमएस/13 सिंतबर 2017
 
 
Admin | Sep 13, 2017 16:12 PM IST
 

Comments