भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

लालबत्ती हटाने नेता कर रहे पालीटिकल शो (21पीआर01एचओ)

img

-लाल बत्ती छोड़ने का जमकर कर रहे प्रचार-प्रसार
       भोपाल (ईएमएस)।अपने सरकारी वाहनों से लालबत्ती हटाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कैबिनेट के निर्णय के बाद प्रदेश के अधिकांश नेता अपने वाहन से लालबत्ती निकालने के लिए पालीटिकल शो कर रहे हैं। लालबत्ती हटाने के नाम पर शोशबाजी कर रहे ये नेता खुद को नैतिक दिखाने के लिए जतन कर रहे हैं।ये नेता लालबत्ती छोड़ने का जमकर प्रचार-प्रसार कर रहे हैं।केन्द्र सरकार के फैसले के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर उनके फैसले का इस्तकबाल किया था और कहा था कि वे और उनकी टीम इमीजिएट इस फैसले का इंप्लीमेंट करेंगे। इसके कुछ ही देर बाद शिवराज ने जबलपुर के बरेला में आयोजित जनसंवाद में लालबत्ती छोड़ने का ऐलान किया था। इसके बाद से ही उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों समेत निगम-मंडल, आयोगों के पदाधिकारियों में लालबत्ती छोड़ने की होड़ सी मच गई है। लालबत्ती छोड़ रहे नेता इसका जमकर प्रचार-प्रसार भी कर रहे हैं।
         यहां यह बताना लाजिमी होगा कि लालबत्ती हटाने का प्रचार करने वालों में वे नेता भी शामिल हैं जिन्होंने इसे हासिल करने के लिए दिल्ली से भोपाल तक नेताओं की जमकर गणेश परिक्रमा की थी और पंजाब सरकार द्वारा लालबत्ती छोड़ने के फैसले पर कहा था कि लालबत्ती हमारा एक चिन्ह हैं जिससे हमें लोग पहचान लेते हैं।लालबत्ती छोड़ने का प्रचार करने के लिए ये नेता हर तरह की पैतरेंबाजी कर रहे हैं। कई नेता मीडिया में आने के लिए अपने वाहन से दो से तीन बार अपने हाथों से ही लालबत्ती उतार रहे हैं। नेताओं की इस शोशेबाजी से सवाल यह भी उठ रहे हैं उनके गुरूर का रूतबा कौन उतारेगा।
इधर इस मामले में कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता केके मिश्रा ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार को लेकर भी वीआईपी संस्कृति खत्म करें। करोड़ों-अरबों का भ्रष्टाचार करने वाले बड़े मगरमच्छ लोकसेवक या संवैधानिक पदों पर काबिज रहने के कारण बच जाते हैं। कानून ऐसे लोगों के खिलाफ अभियोजन की स्वीकृति नहीं देता है।
सुदामा/21अप्रैल2017
 

Admin | Apr 21, 2017 11:49 AM IST
 

Comments