भारतीय पब्लिक सर्च इंजन

ई-सेवा (Links)

Organistaion (संगठन)

 

 

समाचार पत्रों की बदलती हुई मांग एवं क्षेत्रीय स्तर पर मीडिया के विस्तार को ध्यान में रखते हुए ई.एम.एस. न्यूज एजेंसी की कार्यप्रणाली तैयारी की गई। भारत में 1997 में सेटलाइट नेटवर्क तथा दूरसंचार लाइनों का समन्वय बनाकर समाचार एवं छायाचित्रों को कम्प्यूटर के माध्यम से सीधे समाचार पत्रों को वितरण शुरू किया। वर्ष 1997 में हिंदी भाषा के विभिन्न साफ्टवेयर्स का कनवरशन तैयार कर समाचार पत्रों एवं राज्य सरकारों को उपलब्ध कराया गया जो कि उस समय की नवीन तकनीक थी। इससे समाचार पत्रों को त्वरित रूप से समाचार एवं छायाचित्र बहुत कम लागत पर उपलब्ध हुए। वहीं भारत की विभिन्न भाषाओं तेलुगु, गुजराती, अंग्रेजी, उर्दू तथा मराठी भाषा के समाचार पत्रों को भी क्षेत्रीय भाषा में समाचार उपलब्ध हुए। इंटरनेट पर हिंदी की प्रथम वेबसाइट तथा इंटरनेट के माध्यम से भारतीय भाषाओं के समाचार उपलब्ध कराने का श्रेय भी ई.एम.एस. को मिला। वर्ष 2006 से भारत की सभी भारतीय भाषाओं की टाइपिंग तथा ई-मेल करने की सुविधा ई.एम.एस. की वेबसाइट पर संभव होने से क्षेत्रीय समाचार एवं छायाचित्र संवाददाताओं के माध्यम से एकत्रित किए जाने लगे हैं। इन समाचारों को त्वरित रूप से इंटरनेट के माध्यम से विश्व स्तर पर क्षेत्रीय भाषा में उपलब्ध कराने का कार्य केवल ई.एम.एस. में ही संभव है।

भारतीय भाषा के 900 से अधिक दैनिक समाचार पत्र ई.एम.एस. की सेवायें ले रहे हैं। भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), विज्ञापन एवं दृश्य प्रचार निदेशालय (डीएव्हीपी),मध्य प्रदेश सरकार, उत्तराखंड सरकार, उत्तर प्रदेश शासन, बिहार शासन, झारखण्ड शासन, राजस्थान शासन, हिमाचल प्रदेश शासन, छत्तीसगढ़ शासन, महाराष्ट्र शासन, राजभवन, म.प्र. विधानसभा से मान्यता प्राप्त समाचार एजेंसी है। केवल मध्य प्रदेश में ही 195 दैनिक समाचार पत्र ई.एम.एस. की सेवायें ले रहे हैं।
 
तकनीकी पक्ष :-
ई.एम.एस. नवान टेक्नोलॉजी का उपयोग करने में जागरूक रहती है। परिणामस्वरूप आज संचार माध्यम, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, डिजिटल तकनीकी का उपयोग मीडिया में कर इसे ज्यादा प्रभावशाली बनाया गया है। ई.एम.एस. फाइल मैनेजमेंट सिस्टम में भाषा, विषय तथा जिलावार समाचार एवं छायाचित्र देखने की सुविधा उपलब्ध कराती है। विभिन्न साफ्टवेयर्स की एकरूपता तथा विभिन्न साफ्टवेयर्स में काम करने की सुविधा भी ई.एम.एस के साफ्टवेयर में उपलब्ध होने से भारतीय समाचार पत्रों की पहली पसंद ई.एम.एस. न्यूज एजेन्सी है। ईएमएस ने अब सामाजिक स्तर पर सूचनायें एकत्रित कर सभी वर्गों को उपलब्ध कराने का कार्य ईएमएस यलो पेज के माध्यम से किया है। इसके फलस्वरूप देश एवं विदेश के लाखों पाठक प्रतिमाह इन सेवाओं का लाभ ले रहे हैं।
 
समाचार एवं छायाचित्र :-
ई.एम.एस. न्यूज एजेंसी प्रतिदिन लगभग 2000 समाचार एवं 100 से 150 छायाचित्र जारी करती है। इसमें अंतर्राष्ट्रीय, राष्ट्रीय, प्रादेशिक, खेल, व्यापार, स्थायी स्तम्भ, लेख, कार्यक्रम सूचना, फीचर इत्यादि का समावेश रहता है। ई.एम.एस. की सबसे बड़ी विशेषता है कि यह जिन राज्यों एवं जिन भाषाओं में विस्तार करती है, उनकी मांग एवं आवश्यकता के अनुरूप कार्य करती है। इसके फलस्वरूप भाषायी एवं क्षेत्रीय आधार पर जनमानस के बीच इसका व्यापक प्रभाव पड़ता है। ई.एम.एस. अपनी सामाजिक एवं राजनैतिक जिम्मेदारी का बखूबी निर्वाह करती है जिसके परिणामस्वरूप शासन-प्रशासन, राजनैतिक दल, सामाजिक संगठन एवं समाज के सभी वर्गों का विश्वास ई.एम.एस. को हासिल होता है। ईएमएस हिंदी भाषा में प्रतिदिन लगभग 200 समाचार एवं छायाचित्र जारी करने वाली देश की महत्वपूर्ण एजेन्सी है।
शासन एवं स्थानीय प्रशासन को दूरस्थ अंचलों के समाचार त्वरित रूप से मिल जाने के कारण समय एवं धन की बचत होती है। भारत में इसके बेहतर परिणाम देखने को मिले हैं। राज्य एवं वेंâद्र सरकार को समय पर छोटी-बड़ी घटनाओं की जानकारी मिल जाने से शासन एवं प्रशासन की कार्यवाही त्वरित रूप से होती है। वहींं आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति बेहतर होती है। शासन की नीतियों का प्रचार-प्रसार सभी वगों तक पहुंचने लगा। भाषा के आधार पर निश्चित सूचनायें मिलने से अटकलों का दौर कम हो गया है। शासन एवं प्रशासन को भी कार्य करने के लिए स्थिति बेहतर बनी है। चूंकि सभी कार्य नवीनतम तकनीक पर ई.एम.एस. करती है, जिसके कारण इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, प्रिंट मीडिया तथा सरकार एवं प्रशासन का कार्य भी बहुत आसान हो गया है।
 
प्रथम राष्ट्रीय पोर्टल :-
ईएमएस ने वर्ष 2007 से पाठकों को अपनी सेवायें भारत में 300/- रूपये वार्षिक तथा विदेशोंं में 50 डॉलर वार्षिक पर उपलब्ध कराई है। मार्च 2007 से जून 2007 के बीच लगभग १० हजार लोगों ने ईएमएस की सेवायें प्राप्त की हैं। ईएमएस ने यलो पेज के माध्यम से भारत के प्रत्येक जिले के तहसील स्तर तक की सूचनायें राजनैतिक एवं सामाजिक कार्यों एवं व्यक्तिगत पहचान को इन्टरनेट में एकत्रित करने का कार्य शुरू किया है। मात्र 20 रूपए में वर्ष भर यह जानकारी इन्टरनेट पर उपलब्ध होती है। इसमें 24 घंटे के अंदर आवश्यक परिवर्तन के अधिकार जिला स्तर के संवाददाता को होते हैं। जिसके कारण सामाजिक व्यवस्था को मजबूत बनाने की दिशा में ईएमएस ने महत्वपूर्ण कार्य शुरू किया है।
अगले एक वर्ष में देश भर के सभी जिलों की लाखों सूचनायें emsindia.com के पोर्टल पर सभी भाषाओं पर एक साथ उपलब्ध कराने वाला देश का यह पहला राष्ट्रीय पोर्टल होगा। इस पोर्टल की सूचनाओं से सामाजिक व्यवस्था, रोजगार, नौकरी, व्यक्तिगत पहचान सेवा तथा व्यावसायिक क्षेत्रोंं में आशातीत वृद्धि का सबसे बड़ा माध्यम बन रहा है। emsindia.com को प्रारंभ के 3 माह में लगभग 9 लाख लोगोंं ने देखा है तथा इसकी सूचनाओं का लाभ उठाया है। इससे समाज में इसकी उपयोगिता स्वमेव प्रमाणित होती है।